NCP नेता सुप्रिया सुले ने कहा, पार्टी और परिवार दोनों टूट गए

मुंबई। महाराष्ट्र में बड़े सियासी उलटफेर के बाद NCP नेता सुप्रिया सुले ने खुलासा करते हुए कहा कि पार्टी और परिवार दोनों टूट गए। सुप्रिया सुले ने अपने वॉट्सऐप नंबर पर स्टेटस लगाया है जिसमें उन्होंने लिखा कि पार्टी ऐंड फैमिली स्पिल्ट्स यानी पार्टी और परिवार टूट गए। इससे पहले उन्होंने लिखा था कि पार्टी और परिवार का बंटवारा। इस बीच घटनाक्रम पर मीडिया से बात करते हुए सुप्रिया सुले की आंखों में आंसू थे। उन्होंने कहा, ‘मैं जल्द ही सबकुछ बताऊंगी।’
सुप्रिया सुले ने एक और वॉट्सऐप स्टेटस लगाया जिसमें उन्होंने लिखा- ‘जीवन में क्यों किसी पर भरोसा करें, मैंने खुद को इतना ठगा हुआ पहले कभी महसूस नहीं किया। जिसे इतना प्यार किया, बचाव किया, बदले में देखो क्या मिला।’ दूसरी ओर शरद पवार ने शाम साढ़े चार बजे विधायकों की बैठक बुलाई है। NCP ने कहा कि विधायकों के समर्थन वाली चिट्ठी का गलत इस्तेमाल किया गया। NCP नेता नवाब मलिक ने कहा कि पार्टी के विधायकों को गलत जानकारी दी गई। उन्होंने कहा, ‘हमने विधायकों की उपस्थिति के लिए उनके हस्ताक्षर लिए थे, शपथ के आधार पर इसका दुरुपयोग किया गया।’
वहीं अजित पवार ने कहा, ‘पिछले एक महीने से कांग्रेस और NCP में बातचीत चल रही थी लेकिन कोई नतीजा नहीं निकला। उन्होंने साथ ही कहा कि शरद पवार को इस बारे में सब कुछ बता दिया था।’ बता दें कि महाराष्ट्र में बाजी पलटते हुए बीजेपी ने अजित पवार के समर्थन से सरकार बना ली। आज सुबह देवेंद्र फडणवीस और अजित पवार ने राज्यपाल भगतसिंह कोश्यारी के पास पहुंचकर मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री पद की शपथ ली। उसके बाद NCP प्रमुख शरद पवार ने ट्वीट कर कहा कि इस सरकार को NCP का समर्थन नहीं है। उन्होंने कहा कि अजीत पवार ने बिना उनके संज्ञान के बीजेपी का साथ दिया।
नजर नहीं मिला पा रहे थे अजित पवार: राउत
उधर शिवसेना नेता संजय राउत ने भी अजित पवार पर आरोप लगाते हुए कहा कि उन्होंने महाराष्ट्र की जनता के साथ धोखा किया है। उन्होंने कहा, ‘कल 9 बजे तक यह महाशय हमारे साथ बैठे थे पूरी बातचीत में शामिल थे। अचानक से गायब हो गए, मुझे उसी वक्त कुछ संदेह हुआ था। वह नजरों से नजरें मिलाकर नहीं बोल रहे थे। जो व्यक्ति पाप करने जाता है, उसकी नजर जैसे झुकती है, वैसी झुकी नजरों से बात कर रहे थे।’
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *