बांग्लादेश में हुई हिंसा के लिए नेशनलिस्ट पार्टी ज़िम्मेदार: हसन महमूद

ढाका। बांग्लादेश के सूचना एवं प्रसारण मंत्री हसन महमूद ने कोमिल्ला में क़ुरान के कथित अपमान को लेकर हुई हिंसा के लिए बांग्लादेश नेशनलिस्ट पार्टी को ज़िम्मेदार ठहराया है.
बांग्लादेश के अख़बार ढाका ट्रिब्यून ने हसन महमूद के हवाले से लिखा, “मिर्ज़ा फखरुल का बयान साबित करता है कि बीएनपी-जमात सांप्रदायिकता भड़काने में शामिल हैं.”
सूचना एवं प्रसारण मंत्री ने कहा, “प्रधानमंत्री शेख हसीना को राजनीतिक रूप से प्रभावित ना कर पाने के कारण बीएनपी-जमात ने साज़िशों का रास्ता चुना है. कोमिल्ला में हुई घटना के पीछे राजनीतिक उद्देश्य हैं जिसके कारण पूरे देश में सांप्रदायिक हिंसा हुई. इसके पीछे कट्टर समूह हैं.”
हसन महमूद ने कहा कि जो लोग मंदिरों को तोड़ रहे हैं और पुलिस पर हमला कर रहे हैं उन्हें सीसीटीवी कैमरा के ज़रिए पहचाना जा रहा है. हिंसा के पीछे के मास्टरमाइंड को भी न्याय के कटघरे में लाया जाएगा.
बांग्लादेश के कोमिल्ला ज़िले में बुधवार को एक पूजा पंडाल में क़ुरान के कथित अपमान की बात के बाद से कोमिल्ला और चांदपुर समेत देश के कई हिस्सों में मंदिरों और पूजा पंडालों पर हमले हुए थे.
इसके बाद शुक्रवार को राजधानी ढाका और नोआखाली में प्रदर्शनकारियों और पुलिस के बीच हिंसक झड़पें हुईं.
नोआखाली के बेगमगंज में एक पूजा पंडाल में आग और चांदपुर के हाजीगंज में झड़प के कारण कम से कम पाँच लोगों की मौत हुई है.
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *