वेबीनार: ‘दिव्यांगता पुनर्वास में सुरक्षा और कानूनी पहलू’

मथुरा। कल्याणं करोति एवं भारतीय पुनर्वास परिषद द्वारा “दिव्यांगता पुनर्वास में सामाजिक सुरक्षा और कानूनी पहलू” विषय पर दो दिवसीय राष्ट्रीय वेबीनार का आयोजन आज दिनांक 23 व कल 24 मई 2022 को संस्था के महासचिव सुनील कुमार शर्मा की अध्यक्षता में सम्पन्न किया जा रहा है।

राष्ट्रीय वेबीनार में विशेष शिक्षा के क्षेत्र में कार्य कर रहे विश्वविद्यालय एवं विभिन्न संस्थानों के विशिष्ट वक्ताओं द्वारा इस विषय पर नवीन जानकारियों को साझा किया जा रहा है। राज्य तथा अन्य राज्यों के विशेष शिक्षकों को विशेष शिक्षा के क्षेत्र में आ रही चुनौतियों का तकनीकी माध्यम से बताया जाऐगा। ताकि विशेष बच्चे लाभान्वित हो सकें और स्वालम्बी बनकर समाज के मुख्य धारा से जुड़ सकें।

इस लिए कल्याणं करोति द्वारा समय- समय पर इस तरह के कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है जिससे समाज में विशेष बच्चों एवं अभिभावकों के प्रति समाज में एक सकारात्मक दृष्किोण को बनाये रखा जा सके। इस वेबीनार में विभिन्न राज्यों से 200 प्रतिभागी भाग लेंगे।

कल्याणं करोति विशेष शिक्षक प्रशिक्षण के प्राचार्य श्री आर.पी.प्रजापति ने आज इस दो दिवसीय कार्यक्रम की रूपरेखा तथा संस्थान द्वारा संचालित प्रकल्पों को लेकर जानकारी दी गई। कल्याणं करोति द्वारा संचालित डी.एड. एवं बी.एड. के विशेष शिक्षा प्रशिक्षणार्थी कार्यक्रम के साथ जुड़ कर सामाजिक सुरक्षा और कानूनी पहलू के बारे में समझ को विकसित किया।

राष्ट्रीय वेबीनार के प्रथम दिन में डॉ. एके नवीन ने बताया कि दिव्यांगता पुनर्वास में सामाजिक सुरक्षा और कानूनी पहलू पर निःशक्त बच्चों के अधिकारों, इनके संरक्षण के कानूनी पहलू के बारे में समझ रखना बहुत ही आवश्यक है, और यही समझ दिव्यांग बच्चों के सामाजिक सुरक्षा एवं उनके मानवाधिकार को प्राप्त कराने में योगदान देता है।

दुर्गाबाई देशमुख कॉलेज विशेष स्कूल, दिल्ली के रिसर्च एसोसिएट नरेन्द्र झा द्वारा बताया गया कि दिव्यांगता पुनर्वास में सामाजिक सुरक्षा और कानूनी पहलू प्रत्येक व्यक्ति की बुनियादी आवश्यकता है, जब हमारी आर्थिक स्थिति सही नहीं है तो वहां पर सामाजिक सुरक्षा ही सहायता प्रदान करती है।

उत्तरखण्ड मुक्त विश्वविद्यालय के विशेष शिक्षा पाठ्यक्रम समन्वयक डॉ. सिद्धांत पोखरियाल द्वारा बताया गया कि दिव्यांग बच्चों को उसकी आवश्यकता के अनुसार उसे मुख्यधारा में लाया जा सके।

जी.एन.सी.टी. दिल्ली के श्री रजनीश कुमार आर्या द्वारा बताया गया कि हमारे देश के जो भी नागरिक हैं उन्हें सामाजिक सुरक्षा एवं अधिकारों का संरक्षण करना प्रत्येक राज्य का कर्तव्य है। इसी परिप्रक्ष्य में विभिन्न न्यास एवं अधिनियमों के बारे में अवगत कराया गया।

साथ ही संस्थान के विभिन्न संकायों के सहायक प्रवक्तागण राशिद जमाल, अभिराम कुशवाहा, कमलेश यादव, परवेन्द्र कुमार सिंह, पूजा मौर्या, बीके शुक्ला एवं सुनील पौरुष आदि जुड़े रहे।

– Legend News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *