शिवपाल के मंच पर फिर नजर आए मुलायम, राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष बनने को तैयार

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव मंगलवार को अपने भाई शिवपाल की पार्टी ‘प्रगतिशील समाजवादी पार्टी’ के कार्यक्रम में शामिल होने पहुंचे। कार्यक्रम में शिवपाल और उनके समर्थकों की तरफ से मुलायम सिंह यादव को पार्टी का अध्यक्ष बनाने की एक सुर में आवाज उठी। नेताजी से इस पर पूछा गया तो मुलायम ने राष्ट्रीय सम्मेलन बुलाने को कहा।
बता दें कि समाजवादी पार्टी का चेहरा रहे शिवपाल सिंह यादव भतीजे अखिलेश यादव से मनमुटाव के बाद पार्टी से अलग हो गए थे। शिवपाल सिंह ने पहले अपना अलग मोर्चा (समाजवादी सेक्युलर मोर्चा) बनाया। उसके बाद उन्होंने अपनी अलग पार्टी (प्रगतिशील समाजवादी पार्टी) का गठन किया।
मंगलवार को पार्टी कार्यालय में कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में मुलायम सिंह यादव पहुंचे। इस मौके पर मुलायम सिंह का स्वागत करते हुए शिवपाल यादव ने कहा, ‘नेताजी यह प्रगतिशील समाजवादी पार्टी है और अब आपको इसी में रहना है।’ बताया जा रहा है कि इस पर नेताजी बोले- ठीक है। नेताजी की सहमति पर शिवपाल फिर बोले, ‘आपको इस पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनना है। हम आपको राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाने का प्रस्ताव करते हैं।’
इस प्रस्ताव का सबने एक सुर में समर्थन किया। शिवपाल ने कहा, ‘जहां समाजवादी लोग हैं वहीं नेता जी हैं।’ इस पर मुलायम ने राष्ट्रीय सम्मेलन बुलाने के लिए कहा। जवाब में शिवपाल ने कहा कि 15 दिन में राष्ट्रीय सम्मेलन कर लेंगे।
भूल गए नाम और करने लगे एसपी का बखान
उधर, मुलायम सिंह यादव को मंच पर बोलने के लिए माइक दिया गया। उन्होंने बोलना शुरू किया और समाजवादी पार्टी की बड़ाई करने लगे। इसी बीच पीछे बैठे लोगों के बीच से आवाज आई कि यह समाजवादी पार्टी नहीं प्रगतिशील समाजवादी पार्टी है। इस पर मुलायम सिंह बोले, ‘अच्छा, अब समाजवादी पार्टी का दूसरा नाम प्रगतिशील समाजवादी पार्टी हो गया है।’
शिवपाल के समर्थन में पहले ही आ गई थीं मुलायम की छोटी बहू
बता दें कि मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू अपर्णा यादव पहले ही उनके समर्थन में आ चुकी हैं। अपर्णा ने शिवपाल को अपने एक कार्यक्रम में बतौर चीफ गेस्ट बुलाया था। उससे पहले अपर्णा ने शिवपाल के साथ मंच साझा किया था। मंच पर ही शिवपाल के पैर छूकर अपर्णा ने आशीर्वाद लिया था। अपर्णा ने कहा था कि मैं चाचा का बेहद सम्मान करती हूं। नेताजी के बाद मैंने सबसे ज्यादा शिवपाल चाचा को ही माना है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *