‘मन की बात’ में मोदी की अपील: दीवाली पर घर में एक दीया सैनिकों के लिए जलाएं और स्‍वदेशी उत्‍पाद खरीदें

नई दिल्‍ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज मन की बात कार्यक्रम के जरिए एक बार फिर देश को संबोधित किया। मन की बात कार्यक्रम का यह 70वां संस्करण है। प्रधानमंत्री मोदी ने हर बार की तरह सुबह 11 बजे अपना संबोधन शुरू किया
पीएम मोदी की अपील
पीएम मोदी ने देशवासियों से अपील की कि वह सैनिकों के लिए घर में एक दीया जलाएं। पीएम मोदी ने देश को दशहरे की बधाई देते हुए लोगों को त्योहारों के दौर में मर्यादा में रहना है। उन्‍होंने लोगों से इस बार त्योहार पर स्वदेशी उत्पाद खरीदने की भी अपील की और खरीददारी में स्थानीय उत्पादों को प्राथमिकता देने का आह्वान किया।
कृषि क्षेत्र में असीमित संभावनाएं
उन्‍होंने कहा कि कृषि क्षेत्र से युवा भी जुड़ने लगे हैं। कृषि क्षेत्र में नई संभावनाएं पैदा हो रही हैं। कृषि कानूनों से कंपनियों को अच्छा फायदा हो रहा है। नए कृषि कानूनों से कृषि क्षेत्र में नई संभवनाएं पैदा हो रही हैं।
कश्मीर का पुलवामा पेंसिल स्लेट्स से देश को बना रहा आत्मनिर्भर
पीएम मोदी ने बताया कि पुलवामा का ऊखु पेंसिल के पुलवामा के लोगों ने कुछ नया करने की ठानी है। पेंसिल की लकड़ी में पुलवामा की अपनी पहचान है। कश्मीर घाटी 90 प्रतिशत पेंसिल की लकड़ी की पूर्ति करती है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि जम्मू-कश्मीर का पुलवामा पूरे देश को पढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा कर रहा है। उन्होंने कहा कि कश्मीर घाटी पूरे देश की करीब करीब 90 फीसदी पेंसिल स्लेट की मांग की पूरा करता है और इसमें पुलवामा की हिस्सेदारी है। पीएम ने कहा कि एक समय में देश को पेंसिल की लकड़ी विदेशों से मंगानी पड़ती थी, लेकिन पुलवामा हमें इस मामले में आत्मनिर्भर बना रहा है।
‘खादी बन रही देश की पहचान’
प्रधानमंत्री मोदी ने खादी का जिक्र करते हुए कहा कि खादी हमारी सादगी की पहचान रही है, लेकिन हमारी खादी आज इको फ्रेंडली फैब्रिक के रूप में जानी जा रही है ये बॉडी फ्रेंडली फैब्रिक भी है। प्रधानमंत्री ने मेक्सिको के शहर ओहाका का जिक्र किया और कहा कि वहां की खादी ओहाका खादी के नाम से प्रसिद्ध है।पीएम ने कहा कि ओहाका का एक युवक मार्क ब्राउन गांधी जी से इतना प्रभावित हुआ कि वे मेक्सिको में जाकर खादी का काम शुरू करने लगे।
यूनिटी और इम्यूनिटी पर रखना होगा फोकस
पीएम मोदी ने कहा कि हमें यूनिटी और इम्यूनिटी पर फोकस रखना होगा। स्थानीय खाद्य उत्पादों पर फोकस करके हम अपनी इम्यूनिटी के साथ ही यूनिटी को भी बढ़ा सकते हैं।
कमाल का था सरदार पटेल का सेंस ऑफ ह्यूमर
सरदार पटेल के जीवन के कई खूबियां है। राजनीतिक लौहपुरूष के जीवन की कई उपलब्धियां है। सरदार पटेल के सेंस ऑफ ह्यूमर का जिक्र करते हुए उनकी तारीफ की। सरदार पटेल का सेंस ऑफ ह्यूमर कमाल का था। सरदार पटेल ने अपना पूरा जीवन देेश के लिए समर्पित कर दिया। देश की एकता के लिए सरदार पटेल हमेशा ही आगे रहे। प्रधानमंत्री ने लौहपुरुष सरदार वल्लभ भाई पटेल को याद करते हुए उनके सेंस ऑफ ह्युमर को याद किया। पीएम ने कहा कि जरा उस लौह पुरुष की छवि की कल्पना कीजिए जो राजे-रजवाड़ों से बात कर रहे थे और जन आंदोलन का प्रबंधन कर रहे थे। इन सब के बीच उनका सेंस ऑफ ह्युमर पूरे रंग में होता था। पीएम ने कहा कि हालात चाहे कितनों ही खराब क्यों न हो, लेकिन व्यक्ति को अपना सेंस ऑफ ह्युमर जिंदा रखना चाहिए।
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि हमारा देश एक है, लेकिन ऐसी ताकतें भी हैं जो हमारे मन में संदेह का बीज बोने की कोशिश करती रही है। देश ने ऐसे लोगों को मुंहतोड़ जवाब दिया है। प्रधानमंत्री मोदी ने देश की एकता का प्रचार प्रसार करने वाली वेबसाइट ekbharat gov वेबसाइट देखने को कहा।
मध्य प्रदेश की ‘किताबों वाली दीदी’
पीएम मोदी मध्य प्रदेश की रहने वाली ऊषा देवी का जिक्र किया है, जिन्हें बच्चे किताबों वाली दीदी का जिक्र किया। उनके द्वारा शुरू की गई लाइब्रेरी की तारीफ की है।
वोकल फॉर लोकल के लिए रहना है जागरुक
वोकल फॉर लोकल के लिए हमें जागरुक रहना है। सारा देश जवानों के साथ है। सैनिकों के लिए एक दिया घर में जलाएं। भारत के कई खेलों का विकास असाधारण विकास हुआ है। खादी लंबे समय से सादगी की पहचान रही है।
बाराबंकी की सुमन देवी का किया जिक्र
बाराबंकी की सुमन देवी का जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि वह खादी मास्क बनाकर स्वदेशी की मुहिम से जुड़ी हुई हैं। भारत का योग, आध्यात्म और मलखंब जैसे खेल विदेशों में प्रसिद्ध हो रहे हैं। भारत में प्राचीन कालीन से ऐसे खेल रहे हैं, जो हमारे मानसिक विकास को एक नए स्तर तक ले जा सकते हैं। मोदी ने देशवासियों से अपील करते हुए कहा कि वह इंटरनेट पर जाकर इसे जरूर देखें।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *