जलपुरुष राजेंद्र सिंह द्वारा विधायक Mahesh Goyal सम्‍मानि‍त

आगरा। सिविल सोसाइटी ऑफ़ आगरा द्वारा होटल दा के एस रॉयल में आयोजि‍त कार्यक्रम में खेरागढ़ वि‍धानसभा क्षेत्र के विधायक Mahesh Goyal को जलपुरुष राजेंद्र सिंह ने सम्‍मानि‍त कि‍या।

इस अवसर पर जलपुरुष राजेंद्र सिंह ने कहा कि अपने सार्वजनिक जीवन में उन के लिए यह पहला मौका है जब कि जल संरक्षण के लिए किसी विधायक को सम्मानित कर रहा हूँ। खेरागढ़ वि‍धान सभा क्षेत्र के वि‍धायक Mahesh Goyal द्वारा अपने परि‍जनों के सहयोग और क्षेत्र की जनता के सहयोग से तांतपुर में बनाये गये बंधे को आगरा जनपद में एक श्रेष्‍ठतम प्रयास मानती है।

जलपुरुष श्री राजेन्‍द्र सिं‍ह द्वारा व‍िधायक Mahesh Goyal को सम्‍मानि‍त करने के पीछे प्रयास है कि ‘आगरा की इस बेस्ट प्रैक्‍टि‍स ‘ की जानकारी का व्‍यापक प्रचार हो तथा इस दि‍शा में हो रहे प्रयासों को प्रेरणा व बल मि‍ले।

इस अवसर पर जलपुरुष राजेंद्र सिंह ने आव्हान किया क‍ि मौसम परिवर्तन की चुनौती का सामना करने के लिए आगरा को जल संरक्षण क्षेत्र में सक्रिय योगदान को आगे आना होगा। उन्होंने कहा कि जल संरक्षण में आम नागरिक की भूमिका क्या हो- इसकी सटीक जानकारी के लिए वाटर litracy मूवमेंट को प्रचारित करना होगा।

श्री गोयल के तांतपुर बंधे के पानी का उपयोग खेती की सिंचाई के लि‍ये होता है। पानी का एक बड़ा भाग ड्रि‍प इरीगेशन सि‍स्‍टम से खेतों में उपयोग कि‍या जाता है जो क‍ि अपने आप में जनपद भर में एक मि‍साल है।

इस अवसर पर विधायक श्री गोयल ने कहा कि मैं अपने पूर्वजों की धरोहरों आगे बढ़ा रहा हूँ। उन्होंने बताया क‍ि जगनेर की जल समस्या के समाधान के लिए अपने २.५ वर्ष के विधायकी कार्यकाल में लगातार सक्रिय रहे हैं और १० करोड़ रुपए की योजनायें स्वीकृत करायी हैं, जिन में से कई पर कम भी पूरा हो गया है।

खेती के अलावा बंधे का पानी तांतपुर के लोगों के द्वारा अपने पीने व घरेलू कार्यो में भी उपयोग लाया जाता है। जलाशय पर नि‍गरानी तो जरूर रखी जाती है कि‍न्‍तु इसकी घाटनुमा व्‍यवस्‍था नागरि‍कों के लि‍ये सूर्योदय से सूर्यअस्‍त तक खुली रहती है।

सि‍वि‍ल सोसायटी ऑफ़ आगरा का मानना है कि इसी प्रकार की बंधों की संख्‍या बढ़ाकर दौ सौ तक की जा सकती है। चूंकि तांतपुर के रेडसैंड स्‍टोन क्षेत्र तथा इससे लगे डांग क्षेत्र में पि‍छले सौ साल तक जमकर खदान हुआ है फलस्‍वरूप बड़ी संख्‍या में स्‍वाभावि‍क जलाशय के अनुकूल धरातल जगह जगह मौजूद है।

सि‍वि‍ल सोसायटी ऑफ़ आगरा का मानना है कि नई बंधों की संभावनाओं के अलावा जनपद के इस दुर्गम व सुदूर क्षेत्र में एडवैंचर टूरि‍ज्‍म की संभावनायें भी वि‍द्यमान हैं। तांतपुर का रेलवे स्‍टेशन, कि‍ला ,सीता खोज और गोयल परि‍वार का दाऊजी का मन्‍दि‍र के अलावा आल्‍हा ऊदल के मामा जगन सिंह के नाम से जुड़ा जगनेर फोर्ट तो प्रथम दृष्‍टया ही अपने आप में आकर्षण हैं कि‍न्‍तु इनसे इतर और भी आकर्षण जगनेर की पहाड़ियां अपने आप में संजोये बैठी हैं। इनमें कई प्राकृति‍क जलस्‍त्रोत है।
जगनेर -तांतपुर को पर्यटन व‍िकास के ल‍िए सामने लाने का प्रयास हरवि‍जय सि‍ह वाहि‍या के नेतृत्‍व और नि‍र्देशन में हुआ। मोटर स्‍पोर्ट क्षेत्र में ख्‍यातिप्राप्‍त वहि‍या ‘नेचर लवर ‘ भी हैं। तांतपुर जगनेर में पत्थर कटाई बंद होने के बाद रोजगार की समस्या उत्पन्न हो गयी , टूरिज्म बढ़ने से रोजगार के नए आयाम खुलेंगे।

सि‍वि‍ल सोसायटी द्वारा दीपक गोयल और तांतपुर के मूल नि‍वासी पत्रकार सोनू सिं‍घल के योगदान के प्रत‍ि आभार प्रगट क‍िया गया । इस अवसर पर सि‍वि‍ल सोसायटी के डॉ रमेश चन्द्र शर्मा, राजीव सक्स्सेना , शिरोमणि सिंह, डॉ.ब्रिजेश चंद्रा, डॉ आनंद राय, सी एम् पराशर, डॉ मधु भारद्वाज, डॉ अरुणा गुप्ता, अंजू दिअलानी, अभिनय प्रसाद, संदीप अग्रवाल, टोनी, नितिन जोहरी आदि का भी अभार व्‍यक्‍त क‍िया गया ।

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *