गणतंत्र दिवस का भाषण नहीं पढ़ पाईं Kamal Nath सरकार की मंत्री

ग्वालियर। मध्य प्रदेश की नवनियुक्त Kamal Nath सरकार में कैबिनेट मंत्री इमरती देवी को गणतंत्र दिवस कार्यक्रम के दौरान उस समय असहजता का सामना करना पड़ा, जब वह अपना भाषण नहीं पढ़ पाईं। बाद में उन्होंने पास में खड़े जिले के कलेक्टर को बुलाया और उन्हें ही भाषण पढ़ने के लिए दे दिया। इमरती देवी Kamal Nath सरकार में महिला एवं बाल विकास कल्याण मंत्री हैं। इस मामले में मंत्री की तरफ से सफाई भी सामने आई है।
इमरती देवी ग्वालियर जिला मुख्यालय में आयोजित गणतंत्र दिवस समारोह में बतौर मुख्य अतिथि हिस्सा लेने पहुंची थीं। कार्यक्रम के दौरान उन्हें वहां मौजूद लोगों को संबोधित करना था। हालांकि जैसे ही वह पोडियम पर भाषण पढ़ने आईं, वह उसे पढ़ने में अटकने लगीं। पास ही खड़े कलेक्टर ने उनकी मदद करनी चाही, जिसके बाद मंत्री ने कलेक्टर को ही भाषण पढ़ने के लिए दे दिया और खुद नीचे उतर गईं।
विवाद के बाद मंत्री की सफाई
इस बीच विवाद बढ़ने पर मंत्री इमरती देवी ने सफाई भी दी है। उन्होंने कहा, ‘मैं पिछले दो दिनों से बीमार थी। आप डॉक्टर से पूछ सकते हैं। लेकिन सबकुछ ठीक है। कलेक्टर ने सही तरीके से मेरे भाषण को पढ़ा।’
बता दें कि Kamal Nath मंत्रिमंडल के 28 सदस्यों में महिला मंत्री सिर्फ दो ही हैं, इमरती देवी उनमें से एक हैं। इमरती देवी ग्वालियर के डबरा से विधायक हैं। वह तब चर्चा में आई थीं, जब उन्होंने शपथ ग्रहण करने के बाद कांग्रेस नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया को सिर्फ अपना नेता नहीं, बल्कि भगवान बताया था। उन्होंने कहा था मैं उनकी (ज्योतिरादित्य सिंधिया) पूजा करती हूं।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *