पहली बार रणजी खेल रही सिक्किम के Milind kumar ने जड़ा दोहरा शतक

कोलकाता। Milind kumar के दोहरेे शतक के बाद सौरव गांगुली ने पहली बार रणजी ट्रॉफी खेल रही 9 टीमों की हौसलाअफजाई की।
यहां से सिक्किम के लिये  रणजी ट्राफी प्लेट ग्रुप मैच में मणिपुर के खिलाफ नाबाद 202 रन की शानदार पारी खेली भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने गुरुवार को रणजी ट्रॉफी में भाग ले रही नौ नई टीमों को अपना समर्थन प्रदान किया। गांगुली ने यहां जाधवपुर विश्वविद्यालय के मैदान पर मणिपुर और सिक्किम के बीच हो रहे मैच के दौरान कहा, “मैंने हमेशा लोगों पर प्रयास के अंत तक जाने के लिए दबाव डालता हूं। या तो आप उन्हें ढूंढते हैं या वे ढूंढ लेते हैं लेकिन उन्होंने अच्छा प्रदर्शन किया।”

प्लेट ग्रुप के जरिए पूर्वोत्तर की सात टीमों ने रणजी ट्रॉफी के इस सीजन में पहली भार भाग लिया है। गांगुली ने कहा, “वे बेहतर हो जाएंगे. हर किसी को किसी दिन शुरू करना होता है। और ऐसा नहीं है कि वे विजय हजारे में बुरी तरह हारे हों। उन्होंने अच्छा किया। आप समय के साथ बेहतर हो जाते हैं।”

Milind kumar ने सिक्किम के लिए दोहरा शतक जमाया
मिलिंद कुमार ने गुरूवार को यहां सिक्किम के लिये पदार्पण करते हुए रणजी ट्राफी प्लेट ग्रुप मैच में मणिपुर के खिलाफ नाबाद 202 रन की शानदार पारी खेली। मिलिंद की पूर्व टीम दिल्ली ने रणजी ट्राफी के लिए उनकी अनदेखी की थी। उन्होंने पांचवें नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए 67 प्रतिशत से ज्यादा रन जुटाकर सिक्किम को पांच विकेट पर 15 रन के स्कोर से उबारते हुए नौ विकेट पर 299 रन बनाने में मदद की। गांगुली ने भी मिलिंद की तारीफ की। दादा ने कहा, “एक ही दिन में 200 रन बना लेना काफी आकर्षक है।

Milind kumar ने एक ही दिन में जड़ा दोहरा शतक
मिलिंद ने अपनी पारी के दौरान 248 गेंद का सामना किया जिसमें 29 चौके और दो छक्के शामिल रहे। उन्होंने बिपुल शर्मा के साथ 107 रन की भागीदारी निभाई जो रन लेने के लिए हुई गफलत में 45 रन पर रन आउट हुए। मिलिंद ने ली योंग लेपचा (25) के साथ 62 रन की जबकि पदम लिम्बू के साथ 83 रन की भागीदारी की।
दिल्ली के ही एक अन्य खिलाड़ी शैले शौर्य ने शीर्ष बल्लेबाजी क्रम को तहस नहस करते हुए 39 रन देकर चार विकेट चटकाए।

प्लेट ग्रुप में नौ नई टीमें हैं जिसमें आठ टीमें – मणिपुर, अरूणाचल प्रदेश, मिजोरम, उत्तराखंड, सिक्किम, नागालैंड, मेघालय और पुडुचेरी – पदार्पण कर रही हैं जबकि बिहार ने 18 साल के बाद वापसी की है। सभी नई टीमों को एक ही ग्रुप में-प्लेट ग्रुप में रखा गया है। इसके अलावा इलीट ग्रुप में ए और बी ग्रुप में भी नौ-नौ टीमें है जबकि सी ग्रुप में 10 टीमें हिस्सा लेंगी। पहले राउंड में हर ग्रुप में चार मैच खेले जाएंगे सिर्फ ग्रुप सी के पांच मैच होंगे।

पिछले सीजन खिताब न जीतने वाली मुंबई एक बार फिर इस खिताब की प्रबल दावेदार मानी जा रही। मुंबई ने हाल ही में विजय हजार ट्रॉफी में भी एकतरफा प्रदर्शन कर खिताब अपने नाम किया था। टीम में कई शानदार बल्लेबाज हैं। शुरुआती मैचों में हालांकि उसे रोहित शर्मा की सेवाएं नहीं मिल पाएंगी क्योंकि वह इस वेस्टइंडीज सीरीज के लिए भारतीय टीम का हिस्सा हैं।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *