Microsoft के CEO ने कंपनी में अपने लगभग आधे शेयर बेचे

माइक्रोसॉफ्ट Microsoft के चीफ एग्जीक्यूटिव ऑफिसर CEO सत्या नडेला (Satya Nadella) ने कंपनी में अपने लगभग आधे शेयर बेच दिए हैं। वॉल स्ट्रीट जर्नल की एक रिपोर्ट के मुताबिक, यह जानकारी एक फेडरल सिक्योरिटीज फाइलिंग से सामने आई है। पिछले हफ्ते यूएस सिक्योरिटीज एंड एक्सचेंज कमीशन के साथ फाइलिंग में माइक्रोसॉफ्ट ने बताया कि नडेला के पास माइक्रोसॉफ्ट के लगभग 17 लाख शेयर थे। लेकिन पिछले दो दिनों में वह 838,584 शेयर बेच चुके हैं।
इस बिक्री से नडेला को 28.5 करोड़ डॉलर से अधिक की प्राप्ति हुई। इनसाइडरस्कोर के अनुसार, नडेला की यह सबसे बड़ी सिंगल स्टॉक बिक्री है। माइक्रोसॉफ्ट के प्रवक्ता ने एक लिखित बयान में कहा, “सत्या ने व्यक्तिगत वित्तीय योजना और विविधीकरण कारणों के लिए माइक्रोसॉफ्ट स्टॉक की अपनी हिस्सेदारी के लगभग 840,000 शेयर बेचे दिए हैं। वह कंपनी की निरंतर सफलता के लिए प्रतिबद्ध हैं और उनकी होल्डिंग्स, माइक्रोसॉफ्ट बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स द्वारा निर्धारित होल्डिंग आवश्यकताओं से काफी अधिक हैं।”
फैसले के पीछे ये भी हो सकती है एक वजह
विश्लेषकों का कहना है कि सत्या नडेला का यह कदम वाशिंगटन स्टेट के उस फैसले से संबंधित हो सकता है, जो अगले साल की शुरुआत में 250,000 डॉलर प्रति वर्ष से अधिक के लॉन्ग टर्म कैपिटल गेन्स पर 7% टैक्स लगाने की तैयारी कर रहा है। सत्या नडेला 2014 में माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ बने थे।
2.53 लाख करोड़ डॉलर है माइक्रोसॉफ्ट का मार्केट कैप
नडेला की अगुवाई में माइक्रोसॉफ्ट दुनिया की सबसे मूल्यवान कंपनियों में शामिल हुई। इसकी वजह रही कि नडेला ने बिजनेस को क्लाउड कंप्यूटिंग और बड़े उद्यमों को बिक्री पर ध्यान केंद्रित किया। माइक्रोसॉफ्ट वर्तमान में 2.53 लाख करोड़ डॉलर के बाजार पूंजीकरण पर कारोबार कर रही है। यह उस वक्त के मुकाबले लगभग 780 फीसदी ज्यादा है, जब नडेला को सीईओ नियुक्त किया गया था। महामारी के दौरान, कंपनी के कारोबार में और भी तेजी आई है क्योंकि अधिक से अधिक संगठनों ने रिमोट वर्क को सुविधाजनक बनाने के लिए माइक्रोसॉफ्ट के टूल्स की मांग की। नडेला को जून में माइक्रोसॉफ्ट के निदेशक मंडल का चेयरमैन नियुक्त किया गया था।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *