महबूबा मुफ्ती का आरोप, दो दिन से प्रशासन ने कर रखा है हाउस अरेस्ट

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री और पीडीपी चीफ महबूबा मुफ्ती ने खुद को हिरासत में रखे जाने का आरोप लगाया है। महबूबा मुफ्ती का कहना है कि उन्हें बीते दो दिनों से स्थानीय प्रशासन ने हाउस अरेस्ट किया है। उन्हें कहीं भी निकलने नहीं दिया जा रहा है। वह वाहिद के परिवार से मिलने जाना चाहती हैं लेकिन प्रशासन उन्हें निकलने की इजाजत नहीं दे रहा है। वाहिद पीडीपी के युवा नेता हैं, जिन्हें टेरर फंडिंग मामले में अरेस्ट किया गया है।
महबूबा मुफ्ती ने शुक्रवार को अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से ट्वीट करके स्थानीय प्रशासन और बीजेपी नेताओं को निशाने पर लिया। उन्होंने कहा कि वह इस मुद्दे पर जल्द ही प्रेस कॉन्फ्रेंस भी करेंगी।
दो दिनों से हिरासत में रखे जाने का आरोप
पीडीपी नेता ने ट्वीट किया, ‘मुझे दो दिनों से अवैध हिरासत में रखा गया है। जम्मू-कश्मीर प्रशासन मुझे पुलवामा में वाहिद के घर जाने की अनुमति नहीं दे रहा है।’
आपको बता दें कि एनआईए ने पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी के यूथ विंग अध्यक्ष वाहिद पारा को टेरर फंडिंग मामले में गिरफ्तार किया है। वाहिद दक्षिणी कश्मीर के पुलवामा से जिला विकास परिषद डीडीसी चुनाव के लिए नामांकन करवा चुके हैं। वह जम्मू-कश्मीर स्पोटर्स काउंसिल के सचिव पद पर भी रह चुके हैं।
महबूबा ने ट्वीट करके आरोप लगाया, ‘बीजेपी के मंत्री और उनके कठपुतलियों को कश्मीर के हर कोने में घूमने की अनुमति है लेकिन सिर्फ मेरे मामले में ही स्थानीय प्रशासन को सुरक्षा की समस्या है।’
वाहिद की गिरफ्तार का किया विरोध
मुफ्ती ने कहा, ‘उनकी (बीजेपी) क्रूरता की कोई सीमा नहीं है। वाहिद को आधारहीन आरोपों में गिरफ्तार किया गया है। मुझे उसके परिवार को सांत्वना देने की भी अनुमति नहीं है। यहां तक कि मेरी बेटी इल्तिजा को भी घर में नजरबंद रखा गया है क्योंकि वह भी वाहिद के परिवार से मिलना चाहती थी।’
तीन बजे बुलाई प्रेस कॉन्फ्रेंस
पीडीपी चीफ ने ट्वीट करके कहा कि वह शुक्रवार को पूरे मसले में प्रेस कॉन्फ्रेंस करने जा रही हैं। तीन बजे वह प्रेस कॉन्फ्रेंस के जरिए विभिन्न मुद्दों को उठाएंगी। उन्होंने ट्विटर के जरिए कहा कि वह सभी पत्रकारों से अनुरोध करती हैं कि तीन बजे उनके घर में प्रेस कॉन्फ्रेंस के लिए आएं क्योंकि उन्हें कहीं निकलने की इजाजत नहीं है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *