मायावती ने प्रियंका गांधी से पूछा, क्या वे कोटा की मांओं से मिलने जाएंगी ?

लखनऊ। कोटा के अस्पताल में बच्चों की मौत को लेकर उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री और बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती ने ट्विटर के ज़रिए प्रियंका गांधी पर निशाना साधा है.
हालांकि मायावती ने अपनी ट्वीट में प्रियंका गांधी का नाम सीधे-सीधे नहीं लिया लेकिन उन्होंने ‘कांग्रेस की महिला राष्ट्रीय महासचिव’ का ज़िक्र किया है.
मायावती ने कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी पर तंज़ किया कि अब क्या वे कोटा की मांओं से मिलने जाएंगी.
राजस्थान में अभी कांग्रेस की सरकार है और बीजेपी के साथ साथ अन्य विपक्षी पार्टियां इस घटना पर वहां की गहलोत सरकार पर सवाल उठा रही हैं.
मायावती ने भी राजस्थान की गहलोत सरकार को भी आड़े हाथों लिया.
उन्होंने लिखा कि “कांग्रेस शासित राजस्थान के कोटा ज़िले में लगभग 100 मासूम बच्चों की मौत से मांओं का गोद उजड़ना अति-दुःखद व दर्दनाक है. तो भी वहाँ के सीएम गहलोत स्वयं व उनकी सरकार इसके प्रति अभी भी उदासीन, असंवेदनशील व गैर-ज़िम्मेदार बने हुए हैं, जो अति-निन्दनीय.”
उन्होंने लिखा, “किन्तु उससे भी ज़्यादा अति दुःखद है कि कांग्रेस पार्टी के शीर्ष नेतृत्व व ख़ासकर महिला महासचिव की इस मामले में चुप्पी साधे रखना. अच्छा होता कि वह यूपी की तरह उन ग़रीब पीड़ित मांओं से भी जाकर मिलतीं, जिनकी गोद केवल उनकी पार्टी की सरकार की लापरवाही आदि के कारण उजड़ गई है.”
इसके बाद मायावती ने यूपी की जनता को आगाह करते हुए लिखा कि अगर कांग्रेस महासचिव कोटा जाकर मृतक बच्चों की मांओं से नहीं मिलतीं तो यूपी के पीड़ित परिवारों से मिलना उनका राजनीतिक स्वार्थ और कोरी नाटकबाज़ी ही माना जाएगा.
यूपी में सक्रिय प्रियंका गांधी
बुधवार को प्रियंका गांधी ने नागरिकता संशोधन क़ानून के ख़िलाफ़ प्रदर्शन करने वाले माता-पिता को जेल में डालने के बाद उनकी 14 महीने की बेटी को लेकर चिंता ज़ाहिर की थी.
इससे पहले वे नागरिकता संशोधन क़ानून का विरोध करने पर जेल गए लोगों के परिवार से मिलने लखनऊ और बिजनौर के नहटौर क़स्बे गई थीं.
बीते वर्ष जुलाई में वे सोनभद्र ज़िले में ज़मीन विवाद में मारे गए लोगों के परिवार से मिलने भी पहुँचीं थीं.
कोटा की घटना
न्यूज़ एजेंसी पीटीआई के मुताबिक़ राजस्थान के कोटा के जेके लोन अस्पताल में क़रीब 100 बच्चों की मौत हो गई है.
23-24 दिसंबर 2019 को 48 घंटे में सरकारी अस्पताल में 10 बच्चों की मौत हुई थी.
इसके बाद नेशनल कमीशन फॉर प्रोटेक्शन ऑफ़ चाइल्ड राइट्स की टीम ने कोटा का दौरा किया.
कोटा के अस्पताल में बच्चों की मौत को लेकर विपक्षी बीजेपी ने भी गहलोत सरकार की तीखी आलोचना की थी.
-BBC

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *