खतरनाक और जानलेवा भी साबित हो सकती है मुंह ढंककर सोने की आदत

जी हां, सर्दियों के मौसम में रजाई के अंदर मुंह ढंककर सोने से कई तरह की समस्याएं हो सकती हैं। अलग-अलग तरह के लोगों की सोने की आदत अलग-अलग होती है लेकिन क्या आप जानते हैं कि कभी-कभार आपके सोने की आदत आपके लिए खतरनाक और जानलेवा भी साबित हो सकती है।
होने लगती है घुटन
सोते हुए सिर को ढंककर सोना कई लोगों को आरामदायक लगता है। लेकिन बता दें कि सोते समय थोड़ी सी रजाई खुली रहने दें, जिससे ऑक्सीजन का प्रवाह बना रहे। जिन लोगों को अस्थमा, हृदय रोग और फेफड़ों की समस्या है वे लोग मुंह ढंककर बिलकुल न सोएं। इससे दम घुटने की समस्या हो सकती है।
स्लीप ऐप्निया का खतरा
स्लीप ऐप्निया एक ऐसी स्थिति है जब सोते हुए सांस लेने में थोड़ी दिक्कत आने लगती है जिसकी वजह मोटापा और ओबेसिटी की समस्या हो सकती है इसलिए सिर ढंककर सोने से बचना चाहिए।
थकावट भी हो सकती है
मुंह ढंककर सोने की वजह से ओवर हीटिंग से आपको अनिद्रा की समस्या हो सकती है। ओवरहीटिंग की वजह से सूजन, चक्कर आना, मांसपेशियों में ऐंठन जैसे अन्य प्रतिकूल प्रभाव भी हो सकते हैं और आप गर्मी की वजह से थकावट भी महसूस कर सकते हैं।
ब्रेन डैमेज का कारण
एक रिसर्च के अनुसार सिर ढंककर सोने से ब्रेन डैमेज की समस्या भी हो सकती है। सोते समय सिर ढंकने से ऑक्‍सीजन की पूर्ति बाधक होती है जिससे अल्जाइमर और डिमेंशिया का खतरे बढ़ने की सम्‍भावना रहती है। इसल‍िए सोते समय सिर न ढंके।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *