मजीठिया ने SIT के समक्ष पेश होकर कहा, CM चन्नी ने की मेरे खिलाफ साजिश

शिरोमणि अकाली दल (शिअद) के नेता बिक्रम सिंह मजीठिया मादक पदार्थ से संबंधित अपने खिलाफ दर्ज मामले की जांच कर रहे विशेष जांच दल (एसआईटी) के समक्ष बुधवार को पेश हुए। मजीठिया को मामले में उच्च न्यायालय ने दो दिन पहले ही अग्रिम जमानत दी है। मजीठिया ने मोहाली में राज्य अपराध शाखा के दफ्तर के बाहर पत्रकारों से कहा, ‘मैं एसआईटी के समक्ष पेश होने के लिए सुबह 11 बजे यहां आया हूं।
मजीठिया के वकील दमनबीर सिंह सोबती ने कहा कि पूर्व मंत्री हर संभव तरीके से जांच में सहयोग के लिए तैयार हैं। उन्होंने कहा कि वह आज जांच में शामिल हुए। पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय ने सोमवार को मामले में शिअद नेता को अग्रिम जमानत देते हुए उन्हें बुधवार को सुबह 11 बजे जांच में शामिल होने का निर्देश दिया था।
एनडीपीएस कानून के तहत मामला दर्ज
पंजाब के पूर्व मंत्री को सुनवाई की अगली तारीख तक देश नहीं छोड़ने के लिए कहा गया है। साथ में जांच एजेंसी के साथ व्हाट्सएप के माध्यम से अपनी ‘लाइव लोकेशन’ साझा करने को भी कहा गया है। मजीठिया (46) के खिलाफ पिछले महीने एनडीपीएस कानून के तहत मामला दर्ज किया गया था। मोहाली की एक अदालत ने 24 दिसंबर को उनकी अग्रिम जमानत की अर्जी खारिज कर दी थी जिसके बाद उन्होंने उच्च न्यायालय का रुख किया था। मजीठिया पिछले महीने मामला दर्ज होने के बाद मंगलवार को पहली बार सार्वजनिक रूप से सामने आए। उन्होंने पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी और उपमुख्यमंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा पर अपने खिलाफ साजिश करने का आरोप लगाया।
मजीठिया ने अपने खिलाफ दर्ज मामले को ‘राजनीतिक प्रतिशोध’ भी करार दिया। राज्य में सक्रिय मादक पदार्थ गिरोह की जांच की 2018 में आई रिपोर्ट के आधार पर पंजाब के पूर्व मंत्री के खिलाफ नशीले पदार्थों से संबंधित कानून के तहत मामला दर्ज किया गया है। मादक पदार्थ रोधी एसआईटी के प्रमुख हरप्रीत सिंह सिद्धू ने 2018 में पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय में यह रिपोर्ट दाखिल की थी। राज्य की अपराध शाखा ने अपने मोहाली थाने में 49 पन्नों की प्राथमिकी दर्ज की है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *