महाराष्‍ट्र: विरार के कोविड अस्‍पताल में आग, 13 मरीजों की दर्दनाक मौत

मुंबई। कोरोना की बेकाबू स्पीड से जूझ रहे महाराष्ट्र में पालघर जिले के विरार में शुक्रवार तड़के विजय वल्लभ नामक कोविड अस्पताल में आग लगने से 13 मरीजों की दर्दनाक मौत हो गई। पुलिस के अनुसार आग तड़के तीन बजे अस्पताल के आईसीयू (गहन चिकित्सा इकाई) में लगी। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने घटना की जांच के आदेश दे दिए हैं।
घटना की जानकारी मिलते ही फायर विभाग की गाड़ियां आग बुझाने के लिए मौके पर पहुंची। आनन-फानन में मरीजों को बचाने का काम शुरू हुआ। जब तक मरीजों को रेस्क्यू कराया जाता, 13 मरीजों की जलकर मौत हो गई। यह आग शुक्रवार सुबह 3.30 बजे के आसपास लगी।
आपदा नियंत्रण केंद्र के प्रमुख विवेकानंद कदम ने बताया कि आग लगने से पहले आईसीयू की वातानुकूलन इकाई में विस्फोट हुआ था। अस्पताल में कई मरीजों का इलाज चल रहा था। वसई विरार नगर निगम के अग्नि शामक दल ने आग पर एक घंटे में काबू पा लिया था। हालांकि, इस झकझोर देने वाली घटना में कुछ मरीजों को नहीं बचाया जा सका।
आईसीयू में भर्ती थे 17 मरीज
जब अस्पताल में आग लगी उस समय आईसीयू वॉर्ड में 17 लोग मौजूद थे। आग लगने की घटना के पीछे प्रारंभिक कारण शॉट-सर्किट होना बताया जा रहा है। अस्पताल के गंभीर मरीजों समेत 21 मरीजों को दूसरे अस्पताल में शिफ्ट किया गया है।
एसी में शॉर्ट सर्किट से लगी आग?
अधिकारियों ने बताया कि फिलहाल आग लगने का कारण स्पष्ट नहीं है। प्रथम दृष्टया सामने आया है कि अस्पताल के सेंट्रल एसी में शॉर्ट सर्किट के बाद आग लगी और देखते ही देखते आग फैल गई।
महाराष्ट्र में एक महीने के अंदर किसी अस्पताल में हादसे की यह तीसरी बड़ी घटना है। इनमें से दो राजधानी मुंबई में ही है। मुंबई के भांडुप इलाके में स्थित ड्रीम्स मॉल में आग के बाद मॉल की तीसरी मंजिल पर मौजूद सनराइज अस्पताल भी चपेट में आ गया था। अस्पताल में भर्ती 10 मरीजों की मौत हो गई थी। वहीं हाल ही में नासिक के हॉस्पिटल में ऑक्सीजन लीक होने की वजह से 24 मरीजों की मौत हो गई थी।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *