ग्वालियर का महाराजपुर इंडियन एयरफोर्स स्टेशन हाई अलर्ट पर

नई दिल्‍ली। जम्मू-कश्मीर को लेकर भारत सरकार के बड़े फैसले के बाद देश के कई एयरफोर्स बेस की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। हिंडन एयरफोर्स बेस के साथ ही अब ग्वालियर के उस एयरबेस की सुरक्षा बढ़ाई गई है, जहां से बालाकोट आतंकी कैंपों को तबाह करने के लिए लड़ाकू विमान मिराज-2000 ने उड़ान भरी थी।
गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 के ज्यादातर प्रावधानों को हटाने के भारत सरकार के फैसले से पाकिस्तान बौखलाया हुआ है। सीमा पर घुसपैठ कराने के लिए वह पिछले कई दिनों से लगातार फायरिंग कर रहा है। उधर, पाकिस्तान के नेता जंग की गीदड़भभकी दे रहे हैं। ऐसे में पाकिस्तान की तरफ से किसी भी हरकत का मुंहतोड़ जवाब देने के लिए ग्वालियर स्थित महाराजपुर इंडियन एयरफोर्स स्टेशन को हाई अलर्ट पर रखा गया है। गाजियाबाद स्थित हिंडन एयरफोर्स स्टेशन को भी शुक्रवार से हाई अलर्ट पर रखा गया है।
सूत्रों ने बताया कि ग्वालियर स्थित IAF स्टेशन की सुरक्षा बढ़ा दी गई है और पुलिस ने इलाके के आसपास गश्त बढ़ा दी है।
आपको बता दें कि यह वही बेस है जहां से पुलवामा आतंकी हमले के जवाब में भारतीय लड़ाकू विमानों मिराज-2000 ने 26 फरवरी को बालाकोट के आतंकी कैंपों को ध्वस्त करने के लिए उड़ानें भरी थीं।
IAF बेस स्कूल और एयरबेस के आसपास स्थित दो केंद्रीय स्कूल शुक्रवार और शनिवार को बंद रहे। हालांकि अधिकारियों ने यह नहीं बताया कि क्या यह बढ़ाई गई सुरक्षा का हिस्सा था। एक स्थानीय पुलिस अधिकारी ने बताया कि दो वज्र वाहन और 20 अतिरिक्त सशस्त्र पुलिवालों को IAF बेस की सुरक्षा में 24X7 निगरानी के लिए तैनात किया गया है।
सूत्रों ने बताया कि बेस की तरफ आनेवाली सभी गाड़ियों की तलाशी ली जा रही है।
गौरतलब है कि ग्वालियर एयरबेस पर मिराज-2000 की दो स्क्वॉड्रन, गाइडेड मिसाइल की तीन स्क्वॉड्रन और टैक्टिक्स ऐंड एयर कॉम्बैट डिवेलपमेंट स्टैबलिशमेंट (TACDE) तैनात हैं। ऐसे में पाकिस्तान की तरफ से कोई नापाक हरकत किए जाने से भी इंकार नहीं किया जा सकता है।
उधर, हिंडन एयरफोर्स बेस परिसर के स्कूलों में शनिवार को अवकाश घोषित किया गया। शुक्रवार शाम से एयरफोर्स स्टेशन के आसपास निगरानी बढ़ा दी गई है। बताया जा रहा है कि पैरंट्स मीटिंग भी रद्द कर दी गई है। गौरतलब है कि अनुच्छेद 370 को लेकर बड़े फैसले के बाद से ही सेना और तमाम एजेंसियां अलर्ट हैं।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *