निरंजनी अखाड़े के महंत Ashish Giri ने की आत्महत्या

प्रयागराज। यूपी के प्रयागराज में आज निरंजनी अखाड़े के महंत Ashish Giri ने आत्महत्या कर ली ज‍िसके बाद आश्रम में हड़कंप मच गया।

प्रयागराज के दारागंज स्थित निरंजनी अखाड़े के आश्रम में महंत आशीष गिरी की आत्महत्या की खबर सुनते ही हड़कंप मच गया। खबर है कि उन्होंने रविवार को लाइसेंसी रिवाल्वर से खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली।

सनसनीखेज घटना की जानकारी मिलते ही हडकम्प मच गया अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेंद्र गिरी डीआईजी के पी सिंह एसपी सिटी बृजेश श्रीवास्तव और फॉरेंसिक टीम घटनास्थल पर पहुंची पड़ताल की धर्म गुरुओं का कहना है कि बीमारी से परेशान होकर उन्होंने जान दे दी।

गौरतलब है क‍ि शैव परंपरा के निरंजनी अखाड़े के करीबन 70 फीसदी साधु-संतों ने उच्च शिक्षा प्राप्त की है। इनमें से कुछ तो डॉक्टर, लॉ एक्सपर्ट, प्रोफेसर, संस्कृत के विद्वान और आचार्य भी शामिल हैं।

शैव अखाड़े : अखाड़ों की स्थापना के क्रम की बात करें तो अखाड़ों के शास्त्रों अनुसार सन्‌ 660 में सर्वप्रथम आवाह्‍न अखाड़ा, सन्‌ 760 में अटल अखाड़ा, सन्‌ 862 में महानिर्वाणी अखाड़ा, सन्‌ 969 में आनंद अखाड़ा, सन्‌ 1017 में निरंजनी अखाड़ा और अंत में सन्‌ 1259 में जूना अखाड़े की स्थापना का उल्लेख मिलता है।
लेकिन, ये सारे उल्लेख शंकराचार्य के जन्म को 2054 में मानते हैं। जो उनका जन्मकाल 788 ईसवीं मानते हैं, उनके अनुसार अखाड़ों की स्थापना का क्रम चौदहवीं शताब्दी से प्रारंभ होता है। यही मान्यता उचित भी है।

अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेंद्र गिरी ने बताया कि रविवार सुबह 8:00 बजे उन्होंने आशीष गिरी से फोन पर बात की थी उन्हें नाश्ता के लिए मठ में बुलाया था उस वक्त आशीष गिरि ने कहा कि वह स्नान करने के बाद आ रहे हैं। कुछ देर बाद जब वह नहीं पहुंचे तब मठ में रहने वाले इससे शिष्य आवास पर पहुंचे। दूसरी मंजिल पर बने कमरे का दरवाजा खुला था। नीचे जमीन पर बिस्तर के ऊपर खून से लथपथ आशीष गिरी जी का पार्थिव शरीर था। उनके हाथ में पिस्टल थी।

डीआईजी के पी सिंह व नरेंद्र गिरि महाराज का कहना है कि आशीष गिरी जी हाई ब्लड प्रेशर और पेट की बीमारी से परेशान थे उनका लिवर खराब हो गया था इसी से वह परेशान थे।

सूचना मिलते ही एसपी सिटी, डीआईजी समेत तमाम अफसर मौके पर पहुंचे और मामले की जांच में जुट गए। फिलहाल कहा जा रहा है कि महंत आशीष गिरी पिछले काफी दिनों से बीमार थे। आज सुबह अचानक उन्होंने आत्महत्या कर ली।
– एजेंसी

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *