अयोध्या में पुष्पक विमान से उतरे भगवान राम, राज्यपाल- मुख्यमंत्री ने किया स्वागत

फैजाबाद। त्रेता युग को जीवंत करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मुनि वशिष्ठ के रूप में पुष्पक विमान सरीखे सजाए गए हेलीकॉप्टर से उतरकर अयोध्या की धरती पर कदम रखने वाले ‘भगवान राम की अगवानी की । इसके पहले अयोध्या के साकेत महाविद्यालय से श्री राम की शोभा यात्रा शुरू हुई। शोभा यात्रा का समापन मुख्य मार्गों से होते हुये रामकथा पार्क में हुआ। यहीं पर मुख्यमंत्री योगी अादित्यनाथ पहुंचें और पुष्पक विमान से आने के बाद भगवान राम का स्वागत किया।

सरयू में 1.71 लाख दीप आसमान के तारों के रूप में जगमगाएंगे। अयोध्या के लोगों ने काशी की देव-दीपावली के बारे में काफी कुछ सुन रखा है इसलिए आरती को लेकर उनमें अधिक उत्साह है। सरयू किनारे की आरती का इतिहास बहुत पुराना नहीं है। 2013 से ही इसकी शुरुआत हुई है, लेकिन तब से प्रतिदिन 11 सौ दीपों से आरती होती आ रही है। महंत राम दास त्यागी जैसे कुछ लोग अलग-अलग आरती के आयोजन भी करते हैं। राम की पैड़ी पर आरती कराने वाले शशिकांत दास बताते हैं कि हर पूर्णिमा पर दीपों की संख्या दोगुनी हो जाती है।

तैयारियां पूरी
भगवान राम की अगवानी को सरयू किनारे के लगभग चार किलोमीटर के दायरे में कुछ न कुछ काम चल रहा है। राजधानी से आए पुलिस अधिकारी नईमुल हसन उत्साह से हेलीपैड दिखाते हैं कि यहीं भगवान राम उतरेंगे जहां मुख्यमंत्री योगी और राज्यपाल राम नाईक उनकी अगवानी करेंगे। प्रमुख सचिव पर्यटन अवनीश अवस्थी के लिए यह समारोह प्रतिष्ठा का प्रश्न है। पूरे समारोह की संरचना उन्होंने ही की है और एक हफ्ते से हर दूसरे दिन वह यहां आ रहे हैं। अवस्थी कहते हैं इस पूरे कार्यक्रम को सांस्कृतिक चेतना के रूप में भी देखा जाना चाहिए। अयोध्या के हर वर्ग की इसमें प्रत्यक्ष भूमिका है। अवधपुर और जनकपुर वासियों के रूप में छात्र-छात्राएं नजर आएंगी।

-Legend News