लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ने रिटायर्ड कर्मचारी मिश्रीलाल को जूते पहनाए

इंदौर। मध्य प्रदेश के इंदौर में मध्य प्रदेश औद्योगिक केन्द्र विकास निगम (एकेवीएन) द्वारा बनाए गए अतुल्य आईटी पार्क का उद्घाटन किया गया। इसकी आठ मंजिला इमारत में एकेवीएन का भी दफ्तर होगा। इसके उद्घाटन के लिए यहां से सांसद और लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन और मध्य प्रदेश के कैबिनेट मंत्री जीतू पटवारी आए थे। कार्यक्रम के दौरान उस पल ने सबका ध्यान खींचा जब दोनों मेहमानों ने एकेवीएन से रिटायर्ड कर्मचारी मिश्रीलाल को मंच पर जूते पहनाए। मिश्रीलाल 24 साल से नंगे पांव थे और इसके पीछे वजह उनकी एक शपथ थी।
दरअसल, मध्य प्रदेश इंडस्ट्रियल डिवेलपमेंट कॉर्पोरेशन लिमिटेड (एमपीआईडीसी) (अब एकेवीएन) में कई वर्षों तक कार्यरत मिश्रीलाल ने कसम खाई थी कि जब तक इस विभाग का अपना दफ्तर नहीं होगा, वह जूते नहीं पहनेंगे। मिश्रीलाल ने 1994 में यानी 24 साल पहले यह फैसला लिया था और शुक्रवार को जब उनका सपना पूरा हो गया तो सांसद और मंत्री ने ही उन्हें जूते पहनाए।
एमपीआईडीसी के निदेशक कुमार पुरुषोत्तम ने एकेवीएन के रिटायर्ड कर्मचारी मिश्रीलाल को अतिथियों के हाथों जूते की जोड़ी भेंट करवाई। मंच पर ही मिश्रीलाल ने जूते पहने और अतिथियों के साथ बैठे। मिश्रीलाल विभाग में फोर्थ क्लास कर्मचारी के तौर पर काम कर चुके हैं। मिश्रीलाल ने 1994 में शपथ ली थी कि वह तब ही जूते-चप्पल पहनेंगे जब विभाग का अपना दफ्तर होगा।
नौकरी से रिटायर्ड लेकिन शपथ से पीछे नहीं हटे
इस बीच मिश्रीलाल रिटायर भी हो गए लेकिन फिर भी नंगे पैर ही रहे। अब नए आईटी पार्क के साथ विभाग को अपना दफ्तर भी मिल गया। इस दौरान सुमित्रा महाजन ने कहा कि नंगे पैर रहने की कसम लेना अपने आप में बड़ा फैसला होता है। जब भी पैरों में कांटे चुभते हैं तो व्यक्ति को अधूरे संकल्प की याद दिलाते हैं।
यह आईटी पार्क इंदौर के खंडवा रोड पर स्थित है और 50.44 करोड़ रुपये की लागत से बनाया गया है। यह शहर में प्रदेश सरकार का दूसरा आईटी पार्क है। इसका आठ मंजिला भवन लगभग दो लाख वर्ग फुट पर बना है। लोकसभा अध्यक्ष ने लोकार्पण समारोह में कहा कि नये आईटी पार्क में आने वाली कम्पनियों के जरिए स्थानीय युवाओं को रोजगार मिलेगा और शहर में सूचना प्रौद्योगिकी क्षेत्र का विस्तार होगा।
1500 लोगों को रोजगार मिलने की उम्मीद
अधिकारियों ने बताया कि अतुल्य आईटी पार्क में कम्पनियों का काम शुरू होने के बाद करीब 1,500 व्यक्तियों को रोजगार मिलने की उम्मीद है। इसमें अब तक 27 आईटी कंपनियों ने अपने दफ्तर के लिए जगह बुक करा ली है। अतुल्य आईटी पार्क, क्रिस्टल आईटी पार्क के ठीक पास बनाया गया है। क्रिस्टल आईटी पार्क को आईटी सेज (विशेष आर्थिक क्षेत्र) का दर्जा हासिल है। क्रिस्टल आईटी पार्क को भी मध्य प्रदेश औद्योगिक केन्द्र विकास निगम ने ही विकसित किया है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *