Lockdown 19 दिन और, 20 अप्रैल के बाद चिन्‍हित जगहों पर सशर्त आंशिक छूट

नई दिल्‍ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने Lockdown 3 मई तक बढ़ाने की घोषणा की है। मंगलवार सुबह 10 बजे राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में प्रधानमंत्री ने इसकी घोषणा की।
उन्होंने कहा है कि भारत कोरोना के ख़िलाफ़ आगे और लड़ाई कैसे लड़े इसे लेकर राज्यों के साथ निरंतर चर्चा हुई है। उसमें हर किसी की ओर से यही सुझाव आया है कि Lockdown को बढ़ाया जाए। सारे सुझावों को ध्यान में रखते हुए यह तय किया गया है कि 3 मई तक Lockdown को बढ़ाया जा रहा है।
उन्होंने कहा, “Lockdown की वजह से भारत अब तक कोरोना के नुक़सान को टालने में सफल रहा है। मैं जानता हूँ कि आपको कितने दिक़्क़तें आई हैं। किसी को खाने-पीने की परेशानी किसी को आने जाने की परेशानी लेकिन आप अनुशासित सिपाही की तरह देश का कर्त्तव्य निभा रहे हैं।”
उन्होंने आगे कहा, “सोशल डिस्टेंसिंग और Lockdown का बहुत बड़ा लाभ मिला है। आर्थिक दृष्टि से यह महंगा ज़रूर लगता है लेकिन भारतवासियों की ज़िंदगी के सामने ये ज़्यादा नहीं।”
प्रधानमंत्री ने अपने संबोधन में कहा, “कोरोना को नए क्षेत्रों में नहीं बढ़ने देना है। हॉटस्पॉट की इंगित कर के सतर्कता बरतनी होगी। जिन स्थानों पर हॉटस्पॉट बनने की आशंका है उन्हें लेकर कठोर क़दम उठाने होंगे। अगले एक हफ़्ते में Lockdown में कठोरता और बरती जाएगी। जिन इलाक़ों में आशंका कम होगी उन इलाक़ों में 20 अप्रैल के बाद कुछ छूट मिलेगी लेकिन ये सशर्त होगी।”
उन्होंने बताया, “जब देश में एक भी मरीज़ नहीं था तब ही कोरोना प्रभावित देशों से आने वाले लोगों की स्क्रिनिंग हमने शुरू कर दी थी। भारत ने समस्या बढ़ने का इंतज़ार नहीं किया. भारत दूसरे देशों की तुलना में बहुत संभली हुई स्थिति में है।”
उन्होंने संबोधन की शुरुआत में कहा, “मैं सभी देशवासियों की तरफ़ से बाबा साहेब को नमन करता हूँ। ये अलग-अलग त्यौहारों का समय है। भारत उत्सवों का देश है। हमेशा उत्सवों से हरा भरा है. अनेक राज्यों में नए वर्ष की शुरुआत हुई। जितने संयम से घरों में रहकर त्योहार मना रहे हैं ये प्रशंसनीय है। साथियों आज पूरे विश्व में कोरोना वायरस की महामारी की जो स्थिति है, उसमें भारत ने कैसे संक्रमण को रोकने का प्रयास किया है उसके आप सहभागी रहे हैं और साक्षी भी।”
उन्होंने सरकार की तैयारियों के ऊपर कहा कि दवा से लेकर किराना के सामान पर्याप्त मात्रा में देश में हैं। सपलाई चेन की बाधा दूर की जा रही है। कोरोना से निपटने के लिए एक लाख से ज़्यादा बेड का इंतज़ाम कर लिया गया है। धैर्य के साथ हम कोरोना का मुक़ाबला करेंगे तो इसे हराने में सफल रहेंगे।
उन्होंने आख़िर में देशवासियों से कहा कि वो सात बातों में उनका साथ दें।
-बुज़ुर्गों का ख़ास ख़याल रखें।
-सोशल डिस्टेंसिंग का पूरी तरह पालन करें।
-अपनी इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए आयुष मंत्रालय के निर्देश का पालन करें।
-कोरोना संक्रमण रोकने के लिए आरोग्य सेतु मोबाइल ऐप ज़रूर डाउनलोड करें।
-जितना हो सके उतना ग़रीब परिवारों के भोजन की आवश्यकता पूरी करें।
-अपने साथ काम करने वालों को नौकरी से न निकालें।
-कोरोना से लड़ाई में शामिल डॉक्टर, नर्स, सफ़ाईकर्मी, पुलिस का ख़ास सम्मान करें।
पीएम मोदी ने वर्तमान हालात की जानकारी देते हुए कहा कि सरकार बुधवार तक नई गाइडलाइंस जारी कर देगी। इनमें उन तबकों का खास ध्‍यान रखा गया है जो Lockdown के चलते प्रभावित हुए हैं।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *