उत्तराखंड में 25 मई तक बढ़ा लॉकडाउन, सिर्फ 2 दिन खुलेंगी राशन की दुकानें

देहरादून। बढ़ते कोरोना मामलों को देखते हुए उत्तराखंड सरकार ने एक हफ्ते का लॉकडाउन बढ़ा दिया है। राज्य में 17 मई तक लॉकडाउन था। 18 की सुबह से यह लॉकडाउन खुलना था लेकिन सरकार ने इसे बढ़ाकर 25 मई तक कर दिया है। लॉकडाउन बढ़ाए जाने को लेकर सरकार ने पहले ही संकेत दिए थे।
रविवार को सरकार के प्रवक्ता सुबोध उनियाल ने इस ओर संकेत करते हुए कहा था कि आने वाले हफ्ते में सरकार कड़े कदम उठाने जा रही है। इस हफ्ते लगाए गए लॉकडाउन में सख्त पाबंदियां लागू की गई हैं।
सिर्फ दो दिन के लिए खुलेंगी राशन की दुकानें
सरकार ने न केवल अंतरराज्यीय आवाजाही पर पूरी तरह से रोक लगाई है बल्कि प्रदेश के अंदर भी एक जिले से दूसरे जिले में जाने पर भी पाबंदी होगी। सूत्रों के अनुसार लॉकडाउन में हफ्ते में केवल 2 दिन के लिए ही निश्चित समय के लिए राशन की दुकानें खोली जाएंगी।
कांग्रेस ने लगाया था आरोप
कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने आरोप लगाया था कि सरकार चिर निद्रा में है। देहरादून देश के टॉप-10 शहरों में शामिल हो गया है लेकिन सरकार ने अब तक कोई कड़े कदम नहीं उठाए हैं। प्रीतम के अनुसार सरकार के पास पहले संक्रमण की लहर के दौरान तैयारी का काफी मौका था।
शादी में सिर्फ 20 लोग हो सकते हैं शामिल
उत्तराखंड में अब शादी समारोह में शामिल होने की शर्तों को और सख्त कर दिया गया है। कोरोना महामारी के बाद शादी समारोह में शामिल होने वालों की संख्या में पहले 50 लोगों को शामिल होने की आज्ञा दी जा रही थी। इसके बाद यह संख्या घटाकर 20 कर दी गई। अब शादी में शामिल होने के लिए कोविड जांच नेगेटिव होनी अनिवार्य होगी।
उत्तराखंड में कोरोना के केस
उत्तराखंड में रविवार को कोविड-19 के 4496 नए मामले आए जबकि गत 24 घंटे में 188 संक्रमितों मौत हुई। नए मामलों को मिलाकर अब तक प्रदेश में कोरोना वायरस से संक्रमित हुए लोगों की कुल संख्या 2,87,286 हो चुकी है। सर्वाधिक 1248 नए मामले देहरादून जिले में आए जबकि हरिद्वार में 572, टिहरी में 498, उधमसिंह नगर में 393, पौडी में 391, रूद्रप्रयाग में 356 और उत्तरकाशी में 351 और लोगों के संक्रमित होने की पुष्टि हुई। प्रदेश में अब तक कुल 4811 कोरोना वायरस संक्रमित अपनी जान गंवा चुके हैं। 78,802 मरीजों का इलाज अब भी चल रहा है जबकि 1,98,530 मरीज अब तक स्वस्थ हो चुके हैं।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *