Switzerland में भी लगी मुफ़्त में खाने के लिए लाइन

Switzerland को दुनिया का स्‍वर्ग तो कहा ही जाता है, साथ ही उसकी गिनती विश्‍व के अमीर देशों में होती है लेकिन शनिवार की एक तस्वीर दुनिया को हैरान करने वाली थी. Switzerland के जेनेवा शहर में शनिवार को एक हज़ार से ज़्यादा लोग मुफ़्त में खाने के लिए लाइन में लगे दिखे.
कहा जा रहा है कि लाइन में ग़रीब कामगार और बिना दस्तावेज़ों वाले प्रवासी थे. कोरोना वायरस की महामारी ने दुनिया के अमीर देशों के लोगों को भी बेबस कर दिया है. यह लाइन एक किलोमीटर से ज़्यादा लंबी थी. यहां पर कुछ स्वयंसेवी मुफ़्त में खाने के क़रीब 1500 पैकेट बाँट रहे थे. स्थानीय समय के हिसाब से शाम के पाँच बजे लाइन लगनी शुरू हो गई थी.
समाचार एजेंसी रॉयटर्स से जेनेवा में रहने वाले निकागुआ इंग्रिट बेराला ने कहा, ”महीने के आख़िर से मेरी जेब ख़ाली है. सारे पैसे इंश्योरेंस और कई तरह के बिल भरने में ख़त्म हो गए. यह बहुत ही अच्छा काम है क्योंकि हमें एक हफ़्ते के लिए खाना मिल गया. एक हफ़्ते तो आराम से जी पाऊंगा. मुझे नहीं पता कि अगले हफ़्ते क्या होगा.”
86 लाख की आबादी वाले Switzerland में 2018 में 6 लाख 60 हज़ार ग़रीब थे. स्विटज़रलैंड में सिंगल पेरेंट्स और जो कम पढ़े-लिखे हैं, वो ख़ास करके ग़रीब हैं. इन्हें काम मिलने में दिक़्क़त होती है. स्विस बैंक यूबीएस के मुताबिक़ जेनेवा तीन सदस्यों वाले परिवार के लिए दूसरा सबसे महंगा शहर है. हालांकि यहां लोगों की औसत आय भी अच्छी है.
-BBC

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *