6 महीने से फरार बिकरू हत्याकांड का आखिरी आरोपी भी गिरफ्तार

कानपुर। बिकरू हत्याकांड में फरार चल रहे 50 हजार के इनामी बदमाश वितुल दुबे को पुलिस ने अरेस्ट किया है। वितुल दुबे अपने पिता अतुल दुबे के साथ मिलकर पुलिस कर्मियों को निशाना बनाया था। वितुल दुबे के पिता अतुल दुबे को पुलिस ने एनकांउटर में मार गिराया था। वितुल हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे को अपना रोल मॉडल मानता था।
बिकरू हत्याकांड का आरोपी वितुल दुबे बीते 6 महीने से फरार चल रहा था। पुलिस ने वितुल पर 50 हजार की इनाम रखा था। सजेती पुलिस ने बुधवार देररात वितुल को अरेस्ट किया है। वितुल के पास से एक तमंचा और दो कारतूस बरामद हुए है।
विकास दुबे के राजदार रहे अतुल दुबे का बेटा है वितुल
वितुल दुबे ने पिता अतुल दुबे के साथ मिलकर पुलिस कर्मियों पर गोलियां बरसाईं थी। बिकरू कांड के दूसरे ही दिन पुलिस ने अतुल दुबे को कांशीराम नेवादा गांव के जंगलों में ढेर कर दिया था।
2 जुलाई की रात हुए हत्याकांड का मामला
हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे ने बीते 2 जुलाई की रात अपने गुर्गो के साथ मिलकर आठ पुलिस कर्मियों की बेरहमी से हत्या कर दी थी। पुलिस ने जवाबी कार्यवाही करते हुए विकास दुबे समेत 06 बदमाशों को एनकाउंटर में मार गिराया था। वहीं पुलिस ने इस मामले में 36 आरोपियों को जेल भेज चुकी है। इसके साथ ही 42 आरोपियों के खिलाफ कोर्ट में चार्जशीट दाखिल कर चुकी है। बिकरू कांड का एकलौता आरोपी वितुल फरार था। जिसको पुलिस ने अरेस्ट कर लिया है।
जांच के दौरान वितुल का नाम आया था सामने
वितुल दुबे कल्याणपुर में रह कर पढ़ाई कर रहा था। इसके साथ ही वितुल आईटीबीपी की तैयारी भी कर रहा था। पुलिस की जांच में यह सामने आई थी कि घटना की रात वितुल दुबे गांव में ही मौजूद था। उसने भी पुलिस कर्मियों पर गोलियां बरसाईं थी। वितुल का नाम प्रकाश में आने के बाद उसे आरोपी बनाया गया था। वितुल दुबे पर पहले 25 हजार का इनाम था। आईजी मोहित अग्रवाल ने पिछले ही हफ्ते उसकी इनाम राशि बढ़कार 50 हजार कर दी थी।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *