लश्कर-ए-तैयबा का सरगना जकी-उर-रहमान लखवी गिरफ्तार

इस्लामाबाद। पाकिस्तानी मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक 26/11 मुंबई हमले के मास्टरमाइंड और लश्कर-ए-तैयबा के सरगना जकी-उर-रहमान लखवी को टेरर फंडिंग के मामले में गिरफ्तार किया गया है।
आतंकवादियों को आर्थक मदद पहुंचाने के आरोप में पाकिस्तान के पंजाब में उसे गिरफ्तार किया गया है। हालांकि, उसकी गिरफ्तारी का मुंबई हमले से कोई संबंध नहीं है।
पाकिस्तान के पंजाब आतंक निरोधी विभाग के प्रवक्ता ने इस बात की पुष्टि की है कि लखवी को लाहौर में गिरफ्तार किया है। आरोप है कि वह डिस्पेंसरी के नाम पर मिले फंड का इस्तेमाल आतंकवादी गतिविधियों के लिए करता था। उसे साल 2008 में मुंबई हमलों के बाद संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर आतंकवादी करार दिया था।
पाकिस्तान करता रहता है नाटक
फाइनैंशनल ऐक्शन टास्क फोर्स (FATF) की तरफ से ब्लैकलिस्ट किए जाने से बचने के लिए पाकिस्तान इस तरह की पैंतरेबाजियां करता रहता है। आतंक के खिलाफ कार्यवाही के नाम पर इस्लामाबाद रह-रहकर आतंकियों पर कार्यवाही का दिखावा करता रहा है। इससे पहले नवंबर में पाकिस्तान की संघीय जांच एजेंसी (एफआईए) ने मोस्ट वॉन्टेड की नई सूची में मुंबई हमले में शामिल 11 आतंकियों के नाम को दर्ज किया था।
मुंबई हमले का मास्टरमाइंड
बता दें कि 26 नवंबर 2008 को पाकिस्तानी सेना और खुफिया एजेंसी की शह पर लश्कर ए तैयबा के आतंकियों ने मुंबई में कई स्थानों पर हमले किए थे। इस आतंकी हमले में कई विदेशियों सहित करीब 155 लोगों की मौत हो गई थी। इस हमले का मास्टर माइंड जकीउर रहमान लखवी है जिसे पाकिस्तान में गिरफ्तारी के बाद जमानत पर रिहा कर दिया गया था।
भारत ने खोली थी पोल
भारत ने पाकिस्तान की पोल खोलते हुआ बताया था कि पाक ने FATF के एक्शन प्लान के 27 में से सिर्फ 21 बिंदुओं पर काम किया है। 6 बिंदुओं पर काम नहीं किया गया है। यह भी सबको पता है कि पाकिस्तान आतंकी इकाइयों और लोगों को पनाह दे रहा है और उसने UNSC के बताए मसूद अजहर, दाऊद इब्राहिम और जकीरुर रहमान लखवी जैसे लोगों के खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं की है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *