लखीमपुर ह‍िंसा: अंकित दास गिरफ्तार, 22 अक्‍तू. तक न्‍याय‍िक ह‍िरासत में भेजा

लखीमपुर। लखीमपुर खीरी कांड में आरोपित पूर्व केंद्रीय मंत्री अखिलेश दास के भतीजे अंकित दास (Ankit Das) के लखनऊ के सदर पुराना किला स्थित आवास पर एसआइटी ने सफीना नोटिस चस्पा किया था।

एसआइटी ने अंकित दास को बुधवार को लखीमपुर स्थित क्राइम ब्रांच के दफ्तर में बयान दर्ज कराने का आदेश दिया है। इस बीच अंकित दास लखीमपुर खीरी पहुंचें। उन्‍होंने एसआइटी के सामने सेरेंडर किया। जिसके बाद उन्‍हें और उनके ड्राइवर लतीफ को गिरफ्तार कर लिया गया। उनसे पुलिस लाइन स्थित क्राइम ब्रांच के दफ्तर में पूछताछ की जा रही है। एसआइटी उनके ड्राइवर लतीफ से भी पूछताछ कर रही है।

लखीमपुर हिंसा (Lakhimpur violence) में अब तक मंत्री पुत्र आशीष मिश्रा मोनू के बाद उसके मित्र अंकित दास के ड्राइवर शेखर भारती को एसआइटी ने मंगलवार को गिरफ्तार किया था। इसके अलावा केस में किसानों ने आशीष मिश्रा मोनू के साथ अज्ञात 15 लोगों को नामजद किया है।

बुधवार की सुबह करीब 10:15 बजे लखनऊ के कांटेक्टर अंकित दास कई वकीलों के साथ लखीमपुर पहुंचे और पुलिस लाइन में एसआईटी के सामने पेश हुए। कुछ देर के बाद उन्हें खीरी कांड में आरोपी मानते हुए एसआईटी ने गिरफ्तार कर लिया। एसआईटी करीब 4 घंटे से अंकित दास से पूछताछ कर रही है माना जा रहा है कि लंच के बाद अंकित दास को सीजेएम की अदालत में पेश किया जाएगा।

लखीमपुर खीरी कांड में वायरल हुए कई वीडियो में अंदेशा जताया जा रहा था कि उस काफिले में अंकित दास भी मौजूद थे जिसने इस घटना में किसानों को रौंदा जिसके बाद उनकी तलाश एसआईटी सरगर्मी से कर रही थी। शुरुआती पूछताछ में मुख्य आरोपी आशीष मिश्रा का सहयोगी इनको बताया जा रहा है।

– Legend News

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *