कुमार विश्‍वास का येचुरी को जवाब: रो-पीट कर निबट लें तो मेरे पास आएं, मोतियाबिंद दूर हो जाएगा

कवि कुमार विश्वास ने मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (CPM) के प्रमुख सीताराम येचुरी पर निशाना साधा है, जिन्होंने हाल ही में रामायण और महाभारत का ज़िक्र करते हुए हिन्दू धर्मावलम्बियों के भी हिंसक होने की बात कही थी.
सोशल मीडिया पर काफी सक्रिय रहने वाले कुमार विश्वास आमतौर पर अपनी बात काव्य का सहारा लेकर ही कहते हैं लेकिन इस बार उन्‍होंने सीधी आलोचना के जरिए मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (CPM) के प्रमुख सीताराम येचुरी को निशाने पर लिया है। येचुरी ने हाल ही में रामायण और महाभारत का ज़िक्र करते हुए हिन्दू धर्मावलम्बियों के भी हिंसक होने की बात कही थी.
समाचार एजेंसी ANI के मुताबिक सीताराम येचुरी ने कहा था, “रामायण और महाभारत भी हिंसा और युद्धों से भरी पड़ी हैं… प्रचारक होने के नाते, आप इनका ज़िक्र करते हैं लेकिन फिर भी दावा करते हैं कि हिन्दू हिंसक नहीं हो सकते…? फिर इस बात को कहने के पीछे क्या तर्क है कि एक धर्म है, जो हिंसा करता है, और हम हिन्दू नहीं करते…”
इस पर हिन्दी के प्राध्यापक रह चुके कुमार विश्वास चुप नहीं रह सके और उन्होंने जवाब में न सिर्फ सीताराम येचुरी को ‘कुपढ़’ कह डाला बल्कि उनकी हार की भविष्यवाणी भी कर दी.
कुमार विश्वास ने शुक्रवार को माइक्रो-ब्लॉगिंग वेबसाइट ट्विटर पर लिखा, “अपनी वैचारिकी की तरह, हे प्रचुर-कुपढ़ येचुरी जी, 23 मई के बाद अपने पराजय-कुल के अन्य रुदाली-साथियों के साथ जब रो-पीट कर निबट लें, तो मेरे पास पधारें, रामकथा सुनने…! पुण्य नहीं, तो कम से कम दृष्टि का पूर्वाग्रह-शापित मोतियाबिंद तो दूर होगा…! कभी यही शंका किसी और धर्म के ग्रंथ पर की…?”
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »