मकर संक्रांति पर खिचड़ी मेला, CM योगी ने गोरखनाथ मंदिर में चढ़ाई खिचड़ी

गोरखपुर। नए साल के प्रथम दिन से ही चल रहे पूर्वांचल के लोक आस्था का लोकप्रिय मेला, खिचड़ी मेला में  आज मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पीठाधीश्वर के रूप में गोरखनाथ मंदिर में सुबह गुरु गोरखनाथ को आस्था की खिचड़ी चढ़ाकर परंपरागत रूप से मनाई जाने वाली मकर संक्रांति की शुरुआत की। खिचड़ी चढ़ाने के बाद मंदिर के भ्रमण पर निकले गोरक्ष पीठाधीश्वर ने लोगों को मकर संक्रांति पर्व की शुभकामनाएं भी दी।

गुरुवार को ब्रह्ममुहुर्त में गोरक्ष पीठाधीश्वर ने मकर संक्रांति पर परंपरागत पूजा की। इसके बाद गोरक्षपीठ एवं नेपाल नरेश की ओर से खिचड़ी चढ़ाई गई। परंपरानुसार नेपाल राज परिवार से गोरखनाथ मंदिर में हर साल चढ़ाने के लिए खिचड़ी आती है। फिर आमजन के खिचड़ी चढ़ाने का सिलसिला शुरू हुआ। इसी के साथ सवा महीना तक चलने वाले गोरखनाथ मंदिर के खिचड़ी मेला का शुभारंभ किया गया।

मकर संक्रांति का उत्सव पुरुषार्थ के उत्सव से कम नहीं

मकर संक्रांति के पावन पर्व पर प्रदेशवासियों को मकर संक्रांति की बधाई और शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि पिछले 10 महीनों से श्रद्धालुजनों, प्रदेश एवं देश वासियों और दुनिया के तमाम देशों में इस सदी की भीषणतम महामारी कोरोना से जुझते हुए मानवता के सामने सकंट खड़ा हुआ था, आज उस संकट से आदरणीय मोदी जी के नेतृत्व में देश सफलतापूर्वक उभरा है। देश में भी कोरोना के केसों में भारी गिरावट आई है।

सीएम योगी ने कहा कि आज से दो महीने पहले उत्तर प्रदेश में 68 हजार से अधिक एक्टिव केस थे, लेकिन आज यह संख्या घटकर 10 हजार से नीचे आ चुकी है। मकर संक्रांति का उत्सव पुरुषार्थ के उत्सव से कम नहीं है।

सुबह से ही ढोल नगाड़ों से गूंज रहा मंदिर परिसर
सुबह से ही पूरा मंदिर परिसर ढोल, नगाड़ों से गूंज रहा था। श्रद्धालु गुरु गोरखनाथ के जय के नारे लगा रहे थे। यह अनुष्ठान 4:15 बजे तक चला। उसके बाद देश के कई क्षेत्रों से आए श्रद्धालुओं ने खिचड़ी चढ़ाया। गुरु गोरखनाथ मंदिर में देश और प्रदेश के कोने-कोने से आए लाखों श्रद्धालुओं ने गुरु गोरक्षनाथ को आस्था की खिचड़ी चढ़ाई।

इस दौरान क्या महिलाएं क्या पुरुष और क्या बच्चे, सभी गुरु गोरखनाथ की दर्शन के लिए मंदिर में उमड़ पड़े। श्रद्धालुओं ने अपनी बारी की प्रतीक्षा करते हुए अपने आराध्य गुरु गोरक्षनाथ को खिचड़ी चढ़ाई।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *