एक दूसरे के पूरक हैं कथक और ब‍िरजू महाराज, जन्मद‍िन आज

कथक नृत्य के लखनऊ कालिका-बिन्दादिन घराने से अग्रणी नर्तक और गायक पंडित बृजमोहन मिश्र (बिरजू महाराज) का आज जन्म द‍िन है। 04 फरवरी 1938 को गुरु महराज ईश्वरीय प्रसाद जी के घर में जन्मे पंडित जी कथक नर्तकों के महाराज परिवार के वंशज हैं जिसमें अन्य प्रमुख विभूतियों में इनके दो चाचा व ताऊ, शंभु महाराज एवं लच्छू महाराज तथा इनके स्वयं के पिता एवं गुरु अच्छन महाराज भी आते हैं।

हालांकि इनका प्रथम जुड़ाव नृत्य से ही है, फिर भी इनकी हिन्दुस्तानी शास्त्रीय गायन पर भी अच्छी पकड़ है तथा ये एक अच्छे शास्त्रीय गायक भी हैं। इन्होंने कत्थक नृत्य में नये आयाम नृत्य-नाटिकाओं को जोड़कर उसे नई ऊंचाइयों तक पहुंचाया।

इन्होंने कत्थक हेतु ‘कलाश्रम’ की स्थापना भी की है। इसके अलावा इन्होंने विश्व पर्यन्त भ्रमण कर हजारों नृत्य कार्यक्रम करने के साथ-साथ कत्थक शिक्षार्थियों हेतु सैंकड़ों कार्यशालाएं भी आयोजित की हैं।

अपने चाचा शम्भू महाराज के साथ नई दिल्ली स्थित भारतीय कला केन्द्र, जिसे बाद में कत्थक केन्द्र कहा जाने लगा, में काम करने के बाद इस केन्द्र के अध्यक्ष पर भी कई वर्षों तक आसीन रहे। तत्पश्चात १९९८ में वहां से सेवानिवृत्त होने पर अपना नृत्य विद्यालय कलाश्रम भी दिल्ली में ही खोला।

पिछले कई दशकों से भारतीय शास्त्रीय नृत्य ‘कत्थक’को नए आयाम पर पहुंचाने में बिरजू महाराज ने अहम भूमिका अदा की है। वहीं उन्होंने बॉलीवुड की कई फिल्मों में भी कथक का रंग जमाया है और अपनी एक अलग छाप छोड़ी है।

जानकारी के मुताबिक भगवान कृष्ण ने महराज ईश्वरीय प्रसाद को स्वप्न में यह आदेश दिया कि वह नटवरी नृत्य (कत्थक) को फिर से स्थापित करें।

बिरजू महाराज ने कथक के जरिये दुनिया में भारत का कद पहले से कहीं ज्यादा ऊंचा कर दिया। भारतीय संस्कृति को बढ़ावा देने में इनका अहम योगदान रहा है।

इन्होंने सत्यजीत राय की फिल्म शतरंज के खिलाड़ी की संगीत रचना की तथा उसके दो गानों पर नृत्य के लिये गायन भी किया। इसके अलावा वर्ष २००२ में बनी हिन्दी फ़िल्म देवदास में एक गाने ”काहे छेड़ छेड़ मोहे” का नृत्य संयोजन भी किया।

इसके अलावा अन्य कई हिन्दी फ़िल्मों जैसे डेढ़ इश्किया, उमराव जान तथा संजय लीला भंसाली निर्देशित बाजी राव मस्तानी में भी कत्थक नृत्य के संयोजन किये।

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *