पुलवामा हमले की तारीफ करने पर कंपनियों ने निलंबित किए Kashmiri कर्मचारी

हैदराबाद। पुलवामा हमले की तारीफ करने वाले Kashmiri कर्मचारी को मुंबई बेस्ड फार्मास्यूटिकल कंपनी ने निलंबित कर दिया हैैै। ऐसे कई Kashmiri कर्मचारियों के खिलाफ देश की निजी कंपनियों ने निलंबन के नोटिस जारी कियेे  हैं, अब उनके खिलाफ कार्रवाई की जा रही है।

मुंबई बेस्ड फार्मास्यूटिकल कंपनी ने श्रीनगर के अपने कर्मचारी को स्पीड पोस्ट के जरिए उसके निलंबन की जानकारी दी है। साथ ही कहा है कि यदि उसने कारण बताओ नोटिस का दो हफ्ते के अंदर जवाब नहीं दिया तो उसे सेवाओं से मुक्त कर दिया जाएगा।

इस Kashmiri कर्मचारी का नाम रियाज अहमद वानी है। उसने फेसबुक पर 14 फरवरी को पोस्ट पर लिखा था, ‘अथ वनान सर्जिकल स्ट्राइक।’ इसका मतलब होता है इसे कहते हैं सर्जिकल स्ट्राइक। सीआरपीएफ जवानों के काफिले पर हुए आत्मघाती हमले में 40 जवान शहीद हो गए थे। कंपनी ने अपने नोटिस में लिखा है, ‘आपके राष्ट्र-विरोधी संदेश के कारण कंपनी को उग्र टिप्पणियां मिलनी शुरू हो गई। आखिर हमारे संगठन में एक राष्ट्र-विरोधी तत्व क्यों मौजूद है।’

कंपनी ने आगे कहा, ‘आपके कृत्य के कारण जो भयानक और गंभीर प्रकृति का है, उसके लिए आपको तत्काल प्रभाव से निलंबित किया जाता है। मामले में आगे की कार्रवाई लंबित है।’ दूसरा मामला अहमदाबाद बेस्ड हेल्थकेयर कंपनी का है। जिसने अपने श्रीनगर के रहने वाले कर्मचारी इकबाल हुसैन को तत्काल प्रभाव से उसकी टिप्पणी के कारण निलंबित कर दिया है। कर्मचारी ने रियाज अहमद वानी के पोस्ट पर लिखा था, ‘इसे कहते हैं असली सर्जिकल स्ट्राइक।’

इकबाल हुसैन हेल्थकेयर कंपनी में एग्जीक्यूटिव के पद पर हैं। उसे कंपनी ने 15 फरवरी को जारी किए कारण बताओ नोटिस पर अपना जवाब देने के लिए दो दिनों का समय दिया है। उसे बताया गया है कि यदि उसने अपनी सफाई नहीं दी तो उसे तत्काल प्रभाव से सेवा मुक्त कर दिया जाएगा। इसके अलावा अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के एक छात्र पर ट्विटर पर हमले की प्रशंसा करने की वजह से एफआईआर दर्ज की गई है।

-एजेंसी

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *