कश्‍मीर सीक्रेट बरकरार: डोभाल और गौबा के साथ शाह की मीटिंग, पीएम ने कल बुलाई अपनी कैबिनेट

नई दिल्‍ली। जम्मू-कश्मीर में जारी हलचल से राज्य का सियासी पारा चढ़ा हुआ है और पूरे देश में अफवाहों का बाजार गर्म है। इस बीच केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह आज शीर्ष अधिकारियों के साथ बैठक कर रहे हैं। बैठक में शाह के साथ राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजीत डोभाल और गृह सचिव राजीव गौबा भी मौजूद हैं। इस मीटिंग को भी कश्मीर की हलचल से जोड़कर देखा जा रहा है।
बता दें कि राज्य सरकार ने कुछ दिन पहले सुरक्षा का हवाला देते हुए अमरनाथ यात्रियों और पर्यटकों को तत्काल कश्मीर से लौटने की एडवाइजरी जारी की थी। तब से ही कई तरह के कयास लगाए जा रहे हैं। पीडीपी चीफ महबूबा मुफ्ती अंदेशा जता चुकी हैं कि केंद्र सरकार राज्य में कुछ ‘बड़ा’ प्लान कर रही है। हालांकि राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने इसे केवल सुरक्षा की दृष्टि से उठाया गया कदम बताया था।
सत्र बढ़ाने पर विचार
इधर केंद्र सरकार सत्र को दो दिन और बढ़ाने पर विचार कर रही है। बता दें कि सत्र पूरा होने में अभी दो दिन बाकी हैं जबकि अब कोई बड़ा बिल भी सदन में पेश नहीं किया जाना है। ऐसे में सरकार द्वारा अचानक सत्र बढ़ाने पर विचार करना वाकई चौंकाने वाला है, खासकर तब जब संसद सत्र पहले ही बढ़ाकर 7 अगस्त तक किया जा चुका है।
इसके अलावा केंद्र सरकार ने सभी एजेंसियों को भी टॉप अलर्ट पर रखा गया है। इसके अलवा जम्मू-कश्मीर में तैनात सशस्त्र बलों की नई छुट्टियां रद्द कर दी गई हैं और जिन लोगों छुट्टी दी गई है, उन्हें भी इमर्जेंसी में आने के लिए कहा गया है।
संसद में उठेगा मामला
सोमवार को यह मुद्दा देश की संसद में उठाया जा सकता है। इस दौरान विपक्ष सरकार से पूरे मामले पर जवाब मांगा जाएगा। वहीं सरकार भी विपक्ष के सवालों का पुख्ता ढंग से जवाब देगी।
कश्मीर दौरे पर शाह
उधर, गृह मंत्री अमित शाह के कश्मीर दौरे की भी खबर आ रही है। कहा जा रहा है कि संसद सत्र खत्म होते ही वह तीन दिन के कश्मीर दौरे पर जाएंगे। संसद का सत्र 7 अगस्त तक चलने वाला है। यानी, गृह मंत्री का कश्मीर दौरा 8 से 10 अगस्त तक का हो सकता है। सूत्रों की मानें तो शाह का यह दौरा जम्मू-कश्मीर में बीजेपी के सदस्यता अभियान और राज्य में विधानसभा चुनाव की तैयारियों के मद्देनजर हो रहा है।
मोदी ने अचानक कल बुलाई कैबिनेट मीटिंग

पीएम ने कल बुलाई अपनी कैबिनेट मीटिंग
पीएम ने कल बुलाई अपनी कैबिनेट मीटिंग

जम्मू-कश्मीर में जारी हलचल के बीच सोमवार को पीएम नरेंद्र मोदी कैबिनेट की अचानक मीटिंग होने वाली है। खास बात यह है कि मोदी मंत्रीमंडल की मीटिंग आम तौर पर बुधवार को होती है लेकिन इस बार सोमवार को ही संसद सत्र से पहले कैबिनेट मीटिंग होने जा रही है। सुबह 9:30 बजे बुलाई गई केंद्रीय मंत्रीमंडल की बैठक में क्या फैसला होगा, इसका बेसब्री से इंतजार होने लगा है।
उससे पहले आज शाम सात बजे बीजेपी के महासचिवों की बैठक बुलाई गई है। क्या इसका भी कल की कैबिनेट मीटिंग या फिर कश्मीर को लेकर लग रहे कयासों से कोई लेना-देना है? इसका कोई स्पष्ट जवाब ढूंढ पाना मुश्किल है। बस कई तरह के कयास लगाए जा रहे हैं।
गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर में बड़ी संख्या में अतिरिक्त अर्ध-सैनिक बलों की तैनाती और एक के बाद एडवाइजरी जारी किए जाने से असमंजस की स्थिति बनी हुई है। इसी परिप्रेक्ष्य में कश्मीर को विशेष अधिकार देने वाले संविधान के अनुच्छेद 370 और धारा 35ए को लेकर कई तरह की अटकलें लगाई जा रही हैं। साथ ही, जम्मू-कश्मीर राज्य को जम्मू, कश्मीर और लद्दाख, कुल तीन भागों में विभक्त करने की भी अनौपचारिक चर्चा फिजाओं में गूंज रही है।
उधर, गृह मंत्री अमित शाह के कश्मीर दौरे की भी खबर आ रही है। कहा जा रहा है कि संसद सत्र खत्म होते ही वह तीन दिन के कश्मीर दौरे पर जाएंगे। संसद का सत्र 7 अगस्त तक चलने वाला है। यानी गृह मंत्री का कश्मीर दौरा 8 से 10 अगस्त तक का हो सकता है। सूत्रों की मानें तो शाह का यह दौरा जम्मू-कश्मीर में बीजेपी के सदस्यता अभियान और राज्य में विधानसभा चुनाव की तैयारियों के मद्देनजर हो रहा है।
बीजेपी अध्यक्ष के नाते शाह अलग-अलग जिलों में पार्टी कार्यकर्ताओं की मीटिंग कर सकते हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार बाद में वह दो दिनों के जम्मू दौर पर भी जा सकते हैं।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *