कश्मीर: सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ में मार गिराए पाँच आतंकवादी

श्रीनगर। दक्षिण कश्मीर के शोपियां में सोमवार शाम से शुरू हुए दो अलग-अलग ऑपरेशन में पाँच आतंकवादियों की मौत हो गई.
मारे जाने वालों में एक वह आतंकी भी शामिल है, जिसने 5 अक्टूबर को श्रीनगर में बिहार के एक रेहड़ी वाले की हत्या की थी. यह जानकारी पुलिस ने दी है.
ये एनकाउंटर जम्मू-कश्मीर पुलिस, सेना और अर्धसैनिक बलों की एक संयुक्त टीम ने दो गांवों तुलरान और फीरीपोरा में आतंकवादियों की मौजूदगी के इनपुट मिलने पर किया.
तुलरान में हुई मुठभेड़ में तीन आतंकवादियों की मौत हुई और कि फीरीपोरा में दो की.
पुलिस ने मंगलवार को जारी किए गए एक बयान में कहा था कि ”तुलरान में तलाशी अभियान के दौरान जैसे ही आतंकवादियों की मौजूदगी का पता चला, उन्हें बार-बार आत्मसमर्पण करने का मौका दिया गया लेकिन उन लोगों ने गोलीबारी शुरू कर दी और इस कारण एनकाउंटर करना पड़ा.’
तीनों आतंकवादियों की पहचान कापरेन शोपियां के दानिश हुसैन डार, पहलीपोरा के यावर हुसैन नाइकू और गंदरबल के मुख़्तार अहमद शाह के रूप में हुई है.
पुलिस का कहना है कि वे लश्क़र-ए-तैयबा के एक गुट द रेसिस्टेंस फ्रंट (TRF) से जुड़े हुए थे.
पुलिस ने कहा कि मुख़्तार शाह 5 अक्टूबर को श्रीनगर में पानी पुरी वाली की रेहड़ी लगने वाले बिहार के वीरेंद्र पासवान की हत्या में शामिल था. पासवान को गोली मारी गई थी.
पुलिस के मुताबिक़ शाह की हत्या के साथ घाटी में ‘टार्गेटेड किलिंग’ (निशाना बनाकर हत्या) के चार हालिया मामलों में से दो को सुलझा लिया गया है.
उन्होंने बताया कि सोमवार को बांदीपुर के हाजिन गांव में एक आम नागरिक की हत्या के लिए ज़िम्मेदार एक चरमपंथी की भी एनकाउंटर में मौत हो गई.
फीरीपोरा गांव में चले दूसरे ऑपरेशन में दो चरमपंथियों की मौत हुई.
पुलिस के मुताबिक़ ”शोपियां के फीरीपोरा में रात को अंधेरे के कारण तलाशी अभियान रोक दिया गया और तड़के फिर से शुरू किया गया. इस मुठभेड़ में दो आतंकवादी मारे गए.”
फीरीपोरा में मारे गए चरमपंथियों की पहचान कापरेन के उबैद अहमद डार और बरारीपोरा के ख़ुबैब अहमद नेंगरू के रूप में हुई है. दोनों लश्कर-ए-तैयबा से जुड़े थे.
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *