कानपुर: वंदना मिश्रा की मौत मामले में दारोगा व 3 सिपाही निलंबित

कानपुर। इंडियन इंडस्ट्रीज एसोसिएशन (IIA) की कानपुर चैप्टरी की महिला विंग की अध्यक्ष वंदना मिश्रा निधन के बाद हड़कंप मचा हुआ है। घटना को लेकर कानपुर के पुलिस कमिश्नर असीम अरुण ने कार्रवाई करते हुए दारोगा सुशील कुमार समेत 3 सिपाहियों को निलंबित कर दिया है। पुलिस कमिश्नर ने मामले की जांच एडिशनल डीसीपी साउथ को सौंपी हैं।

बताया जा रहा है कि शुक्रवार को राष्ट्रपति के दौरे को लेकर ट्रैफिक रोका गया था। रीजेंसी अस्पताल जाते वक्त काफी लंबा जाम लगा था. वंदना मिश्रा के पति पुलिस के सामने रोते-गिड़गिड़ाते रहे लेकिन जाम नहीं खुला। माना जा रहा है कि दम मिनट पहले अगर वंदना को अस्पताल पहुंचा दिया जाता तो उनकी जान बच सकती थी। अब इस घटना के बाद पुलिस कमिश्नर ने परिवार से माफी मांगी है। कमिश्नर ने ट्वीट किया है। वंदना मिश्रा का परिवार कानपुर के किदवई नगर में रहता है। आईआईए महिला विंग की अध्यक्ष वंदना मिश्रा की मौत पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और प्रथम महिला सविता कोविंद ने शोक जताया है।

राष्ट्रपति का शोक संदेश लेकर पुलिस कमिश्नर असीम अरुण और डीएम आलोक तिवारी उनके घर पहुंचे। दोनों अफसरों ने पीड़ित परिवार से इस दुख की घड़ी में धैर्य रखने की अपील की है। बता दें कि कानपुर के किदवईनगर के ब्लॉक निवासी शरद मिश्रा की पत्नी वंदना मिश्रा इंडियन इंडस्ट्रीज एसोसिएशन कानपुर चैप्टर की महिला विंग की अध्यक्ष थीं। शरद मिश्रा ने बताया कि वंदना को डेढ़ माह पहले कोरोना हुआ था। उस समय इलाज के बाद वह ठीक हो गई थीं, लेकिन शुक्रवार शाम को फिर से उनकी तबियत बिगड़ी तो उन्हें सर्वोदय नगर स्थित रीजेंसी हॉस्पिटल ले जाया गया लेकिन गोविंदपुरी पुल से फजलगंज के बीच उनकी गाड़ी जाम में फंस गई। करीब एक घंटे बाद उनकी गाड़ी जाम के बीच से निकल सकी. जब वह रीजेंसी लेकर पहुंचे तो डॉक्टर ने मृत घोषित कर दिया।

– एजेंसी

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *