ट्विटर की वार्निंग का कंगना की बहन रंगोली ने दिया करारा जवाब

मुंबई। बॉलिवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत की बहन रंगोली उनमें से हैं, जो सोशल मीडिया पर किसी भी मुद्दे पर बेबाकी से बयान देते हैं। चाहे बात फिल्म जगत से जुड़ी हो, राजनीति से, देश से या फिर कंगना की लाइफ से जुड़े अलग-अलग मुद्दों से।
रंगोली ट्विटर पर आती हैं और अपने विचारों की तलवार जमकर चलाती हैं। हालांकि इन दिनों रंगोली ने जो कुछ पोस्ट किया लगता है ट्विटर को पसंद नहीं आया और अब उनके अकाउंट को सस्पेंड करने की उन्हें वॉर्निंग मिल चुकी हैं।
रंगोली पर इसका बहुत फर्क पड़ता नहीं दिख रहा और इस बार इसीलिए उन्होंने ट्विटर को भी निशाने पर लिया है। उन्होंने यह भी बताया है कि ट्विटर ने उन्हें सस्पेंड कर दिया तो उनके पास दूसरा ऑप्शन तैयार है। जैसा कि आपने देखा ही है कि एक ट्वीट से रंगोली का मन नहीं भरता और किसी भी मुद्दे पर वह लगातार ट्वीट करती हैं। इस बार भी उन्‍होंने ट्विटर पर ट्वीट की बमबारी कर डाली।
रंगोली ने इस मुद्दे पर किए अपने सबसे पहले ट्वीट में बताया कि ट्विटर की ओर से उन्हें वॉर्निंग मिल चुकी है। रंगोली ने लिखा, ‘ट्विटर की ओर से मुझे चेतावनी मिली है।’
इतना ही नहीं, रंगोली ने ट्विटर पर राष्ट्रविरोधी होने का भी आरोप लगाया है।
रंगोली ने लिखा, ‘तो क्या यह ट्विटर राष्ट्रविरोधी है… जब मैंने ट्विटर जॉइन किया था तो लोगों ने कहा कि यह मरा हुआ है इंस्टा पर चले जाओ। यदि ट्विटर मेरे अकाउंट को सस्पेंड कर देता है तो यह वापस उसी कब्रिस्तान की ओर जा रहे हैं जहां यह था और ऐसा तब होता है जब आप किसी ईमानदार आवाज़ को बंद करते हैं।’
रंगोली ने ट्विटर को लेकर कटाक्ष भी किया है। उन्होंने लिखा है, ‘ट्विटर हमसे क्या चाहता है, हम गुडमॉर्निंग कहें… क्या शानदार सुबह है, चलिए चाय पीते हैं…यह रही मेरी चाय की तस्वीर। इन सारी बेवकूफियों के लिए किसके पास समय है…हमारे पास यहां किट्टी पार्टी करने से बेहतर काफी कुछ है करने के लिए।’
हालांकि उन्होंने अपने ट्वीट पर अपने दूसरे ऑप्शन की भी बात कही है। उन्होंने लिखा है कि यदि ट्विटर उनका अकाउंट स्स्पेंड कर देता है तो वह अपना खुद का YouTube चैनल खोलेंगी, जहां वह कंगना के छोटे-छोटे वीडियोज़ पोस्ट करेंगी, जहां सभी देखेंगे कि उन्होंने बिना सबूत के कुछ नहीं कहा। उन्होंने कहा, यदि ट्विटर उन्हें परेशान करता है तो वह यहां केवल गुड मॉर्निंग, गुड इवनिंग कहने के लिए नहीं रहना चाहेंगी।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *