KD हॉस्पिटल में निःशुल्क चिकित्सा शिविर, 209 बच्चे लाभान्वित

मथुरा। के. डी. मेडिकल कॉलेज-हॉस्पिटल एण्ड रिसर्च सेण्टर में निःशुल्क शिशु रोग चिकित्सा शिविर के पहले दिन आज 209 बच्चे लाभान्वित हुए। पहले दिन शिविर में डायरिया, सांस की तकलीफ, पेट दर्द, बुखार, निमोनिया आदि से पीड़ित बच्चों की संख्या अधिक रही। कुछ बच्चे गम्भीर बीमारी से भी ग्रसित पाए गए जिन्हें भर्ती किया गया है। के.डी. हॉस्पिटल के निःशुल्क चिकित्सा शिविर को लेकर सुबह से ही अभिभावकों में काफी उत्साह देखा गया। लोगों ने इस शिविर की मुक्तकंठ से सराहना की है।

के.डी. हॉस्पिटल के शिशु रोग विभाग और मनोचिकित्सा विभाग के संयुक्त प्रयासों से आयोजित चिकित्सा शिविर में शनिवार को 0 से 18 वर्ष के 209 बालक-बालिकाओं की विभिन्न रोगों की जांचें और उपचार किया गया। पहले दिन शिविर में शिशु शल्य चिकित्सक डॉ. श्याम बिहारी शर्मा, शिशु रोग विभागाध्यक्ष डॉ. के.पी. दत्ता, डॉ. अभिलाषा स्मिथ, डॉ. संध्या लता, विशेषज्ञ मनोचिकित्सक डॉ. गौरव सिंह आदि ने सेवाएं दीं। शिविर में बच्चों की विभिन्न जांचों के साथ ही उनका उपचार किया गया। गम्भीर रूप से पीड़ित बच्चों को भर्ती किया गया।

इस अवसर पर चिकित्सकों द्वारा अभिभावकों को बदलते मौसम में बच्चों के स्वास्थ्य पर विशेष ध्यान रखने की सलाह भी दी गई। चिकित्सकों ने कहा कि किसी भी बीमारी को हल्के में न लेकर बच्चे में किसी भी तरह की परेशानी के लक्षण दिखते ही चिकित्सकीय परामर्श जरूर लें।

मनोचिकित्सक डॉ. गौरव सिंह ने बताया कि यह मेगा शिशु स्वास्थ्य शिविर रविवार को छोड़कर 25 फरवरी तक चलेगा। इस शिविर में दिल्ली, बेंगलूरु और एम्स के विशेषज्ञ शिशु रोग चिकित्सक भी अपनी सेवाएं देंगे। शिशु स्वास्थ्य शिविर में 0 से 18 वर्ष तक के बच्चों की हर समस्या का निःशुल्क निदान किया जा रहा है। शिविर में ईजी, ईसीजी, अल्ट्रासाउण्ड, एक्सरे, खून की सभी जांचों सहित पैथालॉजी जांचें भी निःशुल्क की जा रही हैं। इतना ही नहीं गम्भीर पीड़ित बच्चों को भर्ती की सुविधा भी निःशुल्क दी जा रही है। इस निःशुल्क शिशु स्वास्थ्य शिविर का मुख्य उद्देश्य मथुरा और उसके आसपास के जिलों के बच्चों को स्वस्थ और निरोगी रखना है।

शिशु शल्य चिकित्सक डॉ. श्याम बिहारी शर्मा का कहना है कि पहले दिन शिविर में कई बच्चे जन्मजात विकृति से पीड़ित भी आए हैं, जिन्हें भर्ती कर लिया गया है। ऐसे बच्चों की विभिन्न जांचों का अवलोकन करने के बाद इनकी सर्जरी की जाएगी। डॉ. शर्मा का कहना है कि चूंकि के.डी. मेडिकल कॉलेज-हॉस्पिटल एण्ड रिसर्च सेण्टर में आधुनिकतम चिकित्सा सुविधाएं तथा विशेषज्ञ चिकित्सकों की टीम चौबीसों घण्टे उपलब्ध है लिहाजा यहां हर तरह की सर्जरी और उपचार सहजता से सम्पन्न किया जा सकेगा।

आर.के. एज्यूकेशन हब के अध्यक्ष डॉ. रामकिशोर अग्रवाल, प्रबंध निदेशक मनोज अग्रवाल, डीन डॉ. रामकुमार अशोका ने लोगों का आह्वान किया कि वे के.डी. हॉस्पिटल की आधुनिकतम विश्वस्तरीय चिकित्सा सुविधाओं तथा पूरी तरह से निःशुल्क स्वास्थ्य शिविर में अपने शिशुओं की जांच और उपचार का लाभ अवश्य उठाएं।

– Legend News

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *