1 जून को भोपाल पहुंचेंगे ज्योतिरादित्य, कई बड़े नेता थामेंगे भाजपा का दामन

भोपाल। बीजेपी ज्वाइन करने के बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया एक बार फिर एमपी आए हैं। एमपी बीजेपी के नेताओं से मुलाकात और राज्यसभा चुनाव के लिए नामांकन दाखिल करने के बाद वह दिल्ली लौट गए थे। कोरोना महामारी के बीच वह दिल्ली से ही फोन और सोशल मीडिया के जरिए लोगों की मदद पहुंचाते रहे हैं। सिंधिया समर्थकों के अनुसार 1 जून को ज्योतिरादित्य सिंधिया भोपाल आ रहे हैं।
सिंधिया समर्थक पूर्व महेंद्र सिंह सिसोदिया ने एक न्यूज़ चैनल से बात करते पुष्टि की है कि महाराज भोपाल आ रहे हैं। सिंधिया के आने से पहले ही कांग्रेस को ताबड़तोड़ झटके लग रहे हैं।
2 दिन में 200 से ज्यादा कांग्रेस नेता पार्टी छोड़ कर बीजेपी में शामिल हुए हैं। पूर्व मंत्री महेंद्र सिंह सिसोदिया ने दावा किया है कि अभी तो यह शुरुआत है।
सिंधिया के सामने कई बड़े नेता थामेंगे दामन
सिंधिया के दौरे से पहले चर्चा है कि उनके आने के बाद कांग्रेस के कई बड़े नेता बीजेपी में शामिल होंगे। कांग्रेस के पूर्व विधायकों से लेकर कई जिलाध्यक्ष बीजेपी का दामन थाम सकते हैं। ज्योतिरादित्य सिंधिया के दौरे से पहले कांग्रेस में खलबली मची हुई है। कांग्रेस ने ज्योतिरादित्य सिंधिया के प्रभाव वाले इलाकों में पार्टी की कार्यकारिणी भंग कर दी है क्योंकि पार्टी को पता है कि टूट उनके प्रभाव वाले इलाके में ही ज्यादा होगी।
मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर हलचल तेज
ज्योतिरादित्य सिंधिया को लेकर दूसरी चर्चा यह भी है कि इस बार वह शिवराज कैबिनेट के विस्तार के दौरान मौजूद रहेंगे। कयास लगाए जा रहे हैं कि जल्द ही शिवराज कैबिनेट का विस्तार होगा। सीएम शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार को भी राज्यपाल लालजी टंडन से मुलाकात की है। दिल्ली से नामों में पर मुहर लगने के बाद कैबिनेट विस्तार की तैयारी शुरू हो जाएगी। सिंधिया खेमे के 7 से 8 लोगों को कैबिनेट में जगह मिल सकती है।
उपचुनाव में चेहरा कौन
वहीं, 24 सीटों पर उपचुनाव को लेकर भी बीजेपी में हलचल तेज हो गई है। पार्टी के आला नेता लगातार रणनीति बनाने में जुटे हैं। रविवार को सिंधिया खेमे के पूर्व विधायक के बयान से राजनीति गरमा गई है। करेरा से पूर्व विधायक जसवंत जाटव ने मांग की है कि उपचुनाव में पार्टी का चेहरा ज्योतिरादित्य सिंधिया ही रहें। हालांकि उनकी इस मांग पर बीजेपी की कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *