जिस तरह जूडस ने यीशु मसीह को धोखा दिया, उसी तरह एलडीएफ ने केरल को छला: पीएम मोदी

पलक्‍कड़। पीएम मोदी ने पलक्‍कड़ में एक चुनावी रैली के दौरान कहा, “जिस तरह जूडस ने चांदी के कुछ टुकड़ों के लिए यीशु मसीह को धोखा दिया, उसी तरह एलडीएफ ने सोने के चंद टुकड़ों के लिए केरल को छला।”
सामान्‍य तौर पर देखा जाए तो यीशु मसीह के 12 शिष्‍यों में से एक जूडस और केरल के लेफ्ट डेमोक्रेटिक फ्रंट (LDF) में शायद कोई समानता नहीं है क्‍योंकि दो हजार साल से ज्‍यादा पुराने किसी शख्‍स की वर्तमान की किसी सरकार से कोई समानता हो भी नहीं सकती मगर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पलक्‍कड़ की चुनावी रैली में इन दोनों का कनेक्‍शन सामने रख दिया।
क्‍या है जूडस की कहानी?
जूडस इस्कैरियट यीशु मसीह के उन 12 शिष्‍यों में से एक था जो उनके सबसे करीब थे। अधिकारियों ने जूडस के सामने प्रस्‍ताव रखा कि वह उन्‍हें यीशु मसीह तक पहुंचाए, बदले में उसे चांदी के 30 टुकड़े दिए जाएंगे। यीशु मसीह यह जानते थे कि जूडस ऐसा करने वाला है मगर उन्होंने उसे रोका नहीं। जूडस सैनिकों को लेकर गेथसीमेन के बगीचे में गया जहां यीशु प्रार्थना कर रहे थे। जूडस ने यीशु मसीह को चूमकर उनकी पहचान की। मैथ्यू 27:3-10 के अनुसार, यीशु के निधन के बाद जूडस को अपने किए पर पछतावा हुआ। उसने चांदी के टुकड़े लौटा दिए और फांसी लगाकर जान दे दी। कुछ अन्‍य संस्‍करणों में कहा गया कि उसने टुकड़े नहीं लौटाए और उसकी मौत एक दुर्घटना थी।
जूडस का पीएम मोदी ने क्‍यों किया जिक्र?
केरल में 6 अप्रैल को मतदान होना है। CPI के नेतृत्‍व वाले LDF के सामने कांग्रेस के नेतृत्‍व वाला UDF है। बीजेपी इनके बीच केरल में अपनी पैठ जमाने की कोशिश कर रही है। 2011 की जनगणना के अनुसार केरल में 55% हिंदू, 27% मुसलमान और 18% ईसाई हैं। मुस्लिम समुदाय से बीजेपी को वोट मिलने की उम्‍मीद उसे कम है। कांग्रेस की यहां के ईसाई समुदाय में पकड़ जो अब ढीली पड़ रही है। बीजेपी की नजर उसी खाली जगह को भरने पर है। पार्टी के नेता लगातार कई ईसाई धर्मगुरुओं से मिले हैं। अब मोदी ने रैली के दौरान जूडस का जिक्र यूं ही नहीं किया, उनकी नजर क्रिश्‍चन वोट्स पर है।
क्‍या है केरल का सोना तस्‍करी मामला
पिछले साल जुलाई में एक यूएई के कांसुलेट-ऑफिस के पते वाले एक डिप्‍लोमेटिक कार्गो से 30 किलो सेाना बरामद किया गया। डिप्‍लोमेटिक कार्गो के जरिए सोने की तस्‍करी होने से पूरे राज्‍य में हड़कंप मंच गया। ऐसे कार्गो की रूटीन कस्‍टम चेकिंग नहीं होती। मामले की जांच नैशनल इनवेस्टिगेशन एजेंसी (NIA) कर रही है। उसने स्‍वप्‍ना सुरेश नाम की एक महिला को गिरफ्तार किया।
कस्‍टम्‍स कमिश्‍नर सुमित कुमार ने हाई कोर्ट में हलफनामा देकर कहा कि स्‍वप्‍ना के सीएम पिनराई विजयन, उनके प्रमुख सचिव (एम शिवशंकर) और पर्सनल स्‍टाफ के सदस्‍य से नजदीकी संबंध हैं। विजयन ने इन सभी आरोपों और सोने की तस्‍करी से अपनी सरकार के किसी भी तरह के कनेक्‍शन को खारिज किया है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *