जूलियन असांज पर बलात्कार के आरोपों की जांच बंद

स्वीडन में अभियोजकों ने विकीलीक्स के सह-संस्थापक जूलियन असांज पर 2010 में लगाए गए बलात्कार के आरोपों की जांच को बंद कर दिया है.
असांज यौन शोषण और बलात्कार के आरोपों से लगातार इंकार करते रहें हैं.
दरअसल, असांज पर स्वीडन में बलात्कार के आरोप लगे थे जिसके बाद गिरफ़्तारी और प्रत्यर्पण से बचने के लिए उन्होंने 2012 से इक्वाडोर के दूतावास में शरण ले ली थी.
48 वर्षीय ऑस्ट्रेलियाई नागरिक असांज को अप्रैल में वहां से बेदखल कर दिया गया था और जमानत की शर्तों का उल्लंघन करने के आरोप में उन्हें 50 हफ्ते की सज़ा सुनाई गई थी.
असांज फिलहाल ब्रिटेन की बेलमर्श जेल में बंद हैं.
2017 में भी स्वीडन ने इस जांच को रोक दिया गया था लेकिन दूतावास से उनके बेदखल होने के बाद इस साल की शुरुआत में इस केस पर फिर से जांच शुरू कर दी गई थी.
वहीं एक अन्य मामले में विकीलीक्स द्वारा साल 2010 में गोपनीय दस्तावेज़ों को सार्वजनिक करने में असांज की कथित भूमिका को लेकर अमरीका ब्रिटेन से उनके प्रत्यर्पण की मांग कर रहा है.
क्या है अभियोजकों का पक्ष?
स्वीडन के अभियोजन प्राधिकरण का कहना है कि उप निदेशक अभियोजक ईवा-मैरी पर्सन ने जूलियन असांज के खिलाफ़ जांच बंद करने का निर्णय लिया है. इस फैसले के पीछे का कारण देते हुए उन्होंने कहा कि जिस घटना की जांच होनी है उसे काफी समय बीत चुका है और इस कारण सबूत कमज़ोर हो गए हैं.
उन्होंने कहा, “इस फैसले के पीछे का कारण यह है कि घटना के बाद से काफी समय बीत जाने के कारण सबूत काफी कमजोर हो गए हैं. ”
पर्सन ने यह भी कहा, “मैं इस बात पर ज़ोर देना चाहूंगी कि घटना के बारे में पीड़िता ने साफ़, विस्तृत और विश्वस्नीय पक्ष रखा है.”
पर्सन ने बताया “उनका बयान साफ़ और विस्तृत हैं हालांकि मेरा मूल्यांकन यह है कि सबूत इस हद तक कमजोर हो गए हैं कि अब जांच को जारी रखने का कोई कारण नहीं बचता है.”
अभियोजकों ने राजधानी स्टॉकहोम में प्रेस ब्रीफिंग में कहा कि जांच खत्म करने का निर्णय इस मामले में सात गवाहों से बातचीत करने के बाद ही लिया गया है.
पूरा मामला क्या था?
असांज पर 2010 में स्टॉकहोम में हुई विकीलिक्स कॉन्फ्रेंस के बाद एक महिला द्वारा बलात्कार और दूसरी महिला द्वारा यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया गया था. उन्होंने हमेशा इन आरोपों से इंकार किया है. इन मामलों पर उनका कहना था कि सेक्स में महिलाओं की सहमति थी.
पहले भी असांज को छेड़छाड़ और ज़बरदस्ती करने के लिए भी जांच का सामना करना पड़ा था लेकिन 2015 में इन मामलों की जांच को भी खत्म कर दिया गया था.
निर्णय पर क्या प्रतिक्रियाएं रहीं?
इस फैसले पर असांज की ओर से कोई भी प्रतिक्रिया नहीं आई लेकिन विकीलीक्स ने जांच को खत्म करने के लिए स्वीडन के कदम का स्वागत किया है.
विकीलीक्स के संपादक क्रिस्टिन हर्फ़्सनसन ने कहा: “अब हम सब को उस खतरे पर ध्यान देना चाहिए जिसे लेकर असांज सालों से चेतावनी दे रहे थे और वो है अमरीका द्वारा लगाया गया आरोप.”
अमरीका में असांजपर क्या आरोप हैं?
असांज पर अमरीका में कंप्यूटर घुसपैठ की साजिश रचने का आरोप है. उन पर सरकारी गोपनीय जानकारी को लीक कर सार्वजनिक करने के काम में एक अहम भूमिका निभाने के आरोप हैं जिसके कारण उन्हें पांच साल तक की जेल हो सकती है.
-BBC

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »