JNU के VC ने कहा, जरूरत पड़ी तो रजिस्‍ट्रेशन की तारीख बढ़ाएंगे

नई दिल्‍ली। जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी JNU में जारी प्रदर्शनों के बीच VC (वाइस चांसलर) जगदीश कुमार ने जरूरी सूचना दी है। VC ने कहा है कि विंटर सेशन के लिए रजिस्ट्रेशन की आखिरी तारीख को जरूरत पड़ने पर आगे बढ़ाया जा सकता है।
बता दें कि पंजीकरण मंगलवार दोपहर से शुरू हुआ और यह प्रक्रिया 12 जनवरी तक चलेगी। तीन हजार से अधिक छात्र अपना पंजीकरण करवा चुके हैं।
JNU के VC एम. जगदीश कुमार ने कहा कि 12 जनवरी तक पंजीकरण करवाने वाले छात्रों से कोई लेट फीस नहीं ली जाएगी। बुधवार शाम तक जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय JNU में कुल 3300 छात्र अगले सत्र के लिए अपना पंजीकरण करवा चुके थे। JNU के कुलपति ने इसकी जानकारी मानव संसाधन विकास मंत्रालय को भी दी है। यह पंजीकरण परीक्षाओं में शामिल होने व नए सत्र की पढ़ाई शुरू करने के लिए करवाया जा रहा है।
बता दें कि फीस वृद्धि और हॉस्टल रूल में बदलाव के खिलाफ पिछले 72 दिनों से जेएनयू में धरना दे रहे छात्रसंघ के कार्यकर्ताओं पर सर्वर रूम को क्षतिग्रस्त करने का आरोप है। मंगलवार को जेएनयू प्रशासन ने वाईफाई व सर्वर रूम को दुरुस्त करने के बाद शीतकालीन सत्र का पंजीकरण शुरू कर दिया। वहीं दूसरी ओर JNU छात्रसंघ ने छात्रों से पंजीकरण के बहिष्कार की अपील की है।
लगे ‘VC हटाओ JNU बचाओ’ के नारे
JNU छात्रसंघ ने बुधवार को भी JNU में VC के खिलाफ प्रदर्शन किया। यहां ‘VC हटाओ JNU बचाओ’ के नारे लगाए गए। इस दौरान छात्रों से शीतकालीन सत्र के लिए पंजीकरण न कराने की अपील भी की गई। JNU के कुलपति का कहना है कि वह विश्वविद्यालय में शांति बहाली के प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने छात्रों से नई शुरुआत करने की अपील की और कहा कि अब छात्र शीतकालीन सत्र के लिए अपना पंजीकरण करवाएं। उन्होंने रविवार रात हुए हमले को दुर्भाग्यपूर्ण बताया और कहा कि इस प्रकार की हिंसा से कोई समाधान नहीं निकलने वाला है।
JNU छात्रसंघ का कहना है कि विश्वविद्यालय प्रशासन द्वारा छात्रों पर कार्यवाही का दबाव बनाया जा रहा है। कई छात्रों को शीतकालीन सत्र के लिए जबरदस्ती पंजीकरण करवाने को कहा गया। पंजीकरण न करवाने वाले छात्रों के खिलाफ कार्रवाई की धमकी भी दी गई। छात्रसंघ के मुताबिक कुलपति जब तक फीस वृद्धि का फैसला वापस नहीं लेते तब तक विश्वविद्यालय में यह विरोध जारी रहेगा।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *