श्रीकृष्ण-जन्मभूमि पर जन्माष्टमी: इस बार जन्ममहाभिषेक में सरयूजल भी होगा शाम‍िल

मथुरा। इस वर्ष भगवान श्रीकृष्ण के जन्म महाभिषेक में परम पवित्र सरयू जी के जल का भी उपयोग किया जायेगा।

इस संबंध में जानकारी देते हुये श्रीकृष्ण-जन्मस्थान सेवा-संस्थान के सचिव श्री कपिल शर्मा एवं संस्थान के सदस्य श्री गोपेश्वरनाथ चतुर्वेदी ने बताया कि श्रीराम जन्मभूमि अयोध्यापुरी से सरयू जी का जल लेकर श्रीराम जन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष महंत श्रीनृत्यगोपाल दास जी महाराज दिनांक 11अगस्त 2020 को मथुरा पधारेंगे।

मोक्षपुरी श्रीमथुरा जी एवं श्रीअयोध्या जी की परम पवित्र नदियां श्रीयमुना जी एवं श्री सरयू जी के साथ गंगाजल का उपयोग भी श्रीकृष्ण -जन्ममहाभिषेक के दिव्य एवं अलौकिक धार्मिक अनुष्ठान में किया जायेगा।

लगभग 500 साल बाद श्रीअयोध्या धाम में भव्य राम मंदिर के निर्माण का कार्य प्रारम्भ हो गया है। संपूर्ण सनातन धर्मावलम्बियों के साथ-साथ समस्त चराचर आल्हादित एवं उत्साहित हैं। जिस परम पवित्र सरयू जी में भगवान श्रीराम ने स्नान किया, आज वही सरयू जी भगवान श्रीराम के मंदिर निर्माण देख अपनी तरूणाई पर है।
14 वर्ष के उपरान्त भगवान श्रीराम अयोध्या धाम में पधारे थे तो अयोध्यावासियों ने दीपावली मनाई। आज भगवान श्रीराम 500 वर्ष बाद पुनः अपनी भूमि पर पधारे हैं तो यह अवसर अनन्त दीपावली के समान है। ऐसे परम उत्साह एवं उल्लास में सराबोर श्रीअयोध्या धाम से पवित्र सरयू जी का जल लेकर श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र न्यास के अध्यक्ष, परम पूज्य महन्त श्रीनृत्यगोपाल दास जी महाराज दिनांक 11अगस्त को मथुरा पधारेंगे। भगवान श्रीकृष्ण के 5247 वें जन्ममहोत्सव में परम पावन श्री यमुना जी, श्री सरयूजी एवं गंगा जी के जल का उपयोग भगवान श्रीकृष्ण के जन्ममहाभिषेक के दिव्य एवं अलौकिक अनुष्ठान में किया जायेगा।

ज्ञातव्य है इस वर्ष श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र न्यास एवं श्रीकृष्ण जन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष परम पूज्य महन्त श्रीनृत्यगोपाल दास जी महाराज के दिव्य सानिध्य में भगवान श्रीकृष्ण के अलौकिक जन्ममहाभिषेक का कार्यक्रम सम्पन्न होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *