जम्मू-कश्मीर: मुठभेड़ में सेना के दो अधिकारियों सहित पांच जवान शहीद

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा ज़िला अंतर्गत हंदवाड़ा में हुए आतंकवादियों से मुठभेड़ के दौरान सेना के दो अधिकारियों सहित पाँच जवान शहीद हो गए.
शहीदों में आर्मी के एक कर्नल और एक मेजर रेंक के अधिकारी हैं. इसके अलावा जम्मू-कश्मीर पुलिस के एक अधिकारी तथा आर्मी के दो जवान हैं.
इस मुठभेड़ में दो आतंकवादी भी मारे गए हैं. मुठभेड़ शनिवार शाम में 3:30 बजे शुरू हुई थी. शहीद होने वालों में 21 राष्ट्रीय राइफल के कमांडिंग आर्मी ऑफिसर कर्नल आशुतोष शर्मा, मेजर अनुज, एक लांस नायक और एक राइलफल मैन सहित जम्मू-कश्मीर पुलिस के सब इंस्पेक्टर शकील क़ाज़ी शामिल हैं.
कर्नल शर्मा को पूर्व में दो वीरता सम्मान मिल चुके थे. अतीत में उन्होंने कई सफल ऑपरेशनों को अंजाम दिया था.
सुरक्षाबलों के जनसंपर्क अधिकारी ने बताया कि आतंकवादियों ने हंदवाड़ा के चांगिमुल में एक परिवार को बंधक बना रखा था और उस मकान का इस्तेमाल छिपने में कर रहे थे. इस बात की सूचना मिलने के बाद जम्मू-कश्मीर पुलिस और आर्मी की संयुक्त कार्यवाही के तहत मकान पर छापा मारा गया.
आर्मी ने अपने बयान में कहा है कि उन्हें ख़ुफ़िया एजेंसी से इस बारे में सूचना मिली थी. बयान के मुताबिक मकान पर छापा मारने वाले दस्ते में आर्मी और जम्मू-कश्मीर पुलिस के पांच जवान शामिल थे.
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शहीदों को ट्वीट कर श्रद्धांजलि दी है. राजनाथ सिंह ने अपने ट्वीट में कहा, ”सैन्य कार्यवाही में शामिल जिन सैनिकों और सुरक्षाकर्मियों की जान गई है, उन्हें श्रद्धांजलि. जिन परिवारों ने अपने लोगों को खोया है उनके साथ मेरी संवेदना है. इन बहादुर शहीदों के परिवारों के साथ भारत कंधे से कंधे मिलाकर खड़ा है.”
राजनाथ सिंह ने अगले ट्वीट में कहा है, ”हंदवाड़ा में सैनिकों और सुरक्षाकर्मियों की मौत बहुत ही दुखद है. इन्होंने आतंकवाद के ख़िलाफ़ लड़ाई में अनुकरणीय बहादुरी दिखाई है. वतन की रक्षा में इन्होंने जान तक की बाजी लगा दी. हम इनकी बहादुरी और शहादत को कभी नहीं भूलेंगे.”
कब्जे में लिए गए लोगों को छुड़ाने के लिए सुरक्षाबल के ये जवान उस इलाक़े में आए. उन्होंने ऑपरेशन के दौरान फंसे हुए लोगों को तो छुड़ा लिया लेकिन आतंकवादियों की ओर से हुए भारी गोलीबारी में सुरक्षा बलों को जान भी गंवानी पड़ी.
एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *