जम्मू-कश्मीर के DGP ने कहा, आतंकियों को अलग-थलग करने की कोशिश

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर के पुलिस महानिदेशक दिलबाग सिंह का कहना है कि पुलिस आतंकियों पर लगातार दबाव बनाकर उन्हें अलग करने की कोशिश कर रही है।
उनका कहना है कि ऐसा इसलिए भी किया जा रहा है ताकि आतंकी आम लोगों को बहका न पाएं।
मीडिया से बातचीत में दिलबाग सिंह ने कानून-व्यवस्था बनाए रखने में राज्य के लोगों के सहयोग के लिए उनका धन्यवाद किया।
उन्होंने कहा कि ‘पुलिस, अर्द्धसैनिकबलों और सेना को सम्मिलित कर बनाई गई सुरक्षा टीमों ने शानदार काम किया है लेकिन हमें राज्य के लोगों की तरफ से दिए गए सहयोग को भी नजरअंदाज नहीं करना चाहिए।’
जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को पांच अगस्त को केंद्र की ओर से निरस्त किए जाने के बाद राज्य में सुरक्षाबलों की मौजूदगी बढ़ा दी गई थी और कड़ी पाबंदिया लगाई गईं।
1987 बैच के आईपीएस अधिकारी सिंह ने राज्य में किए गए संवैधानिक परिवर्तनों पर टिप्पणी करने से तो इंकार कर दिया लेकिन कहा, ‘मेरा मानना है कि राज्य में सकारात्मक विकास के युग की शुरुआत हो रही है।…और लोगों को इसके बारे में अच्छी चीजों को समझना चाहिए।’
उन्होंने कहा कि पुलिस बल के प्रमुख के तौर पर यह सुनिश्चित करना उनका कर्तव्य है कि कुछ गिने-चुने आतंकवादी जो मुख्यत: पाकिस्तान से हैं, उन्हें जम्मू -कश्मीर के आम लोगों को बहकाने न दिया जाए।
सिंह ने कहा, ‘हमारी आतंकवाद रोधी इकाई इन आतंकवादियों को दूर रखने का दबाव बनाए हुए है और निश्चित तौर पर हम ऐसा कर पाएंगे।’
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »