ITBP के जवान हर स्‍तर पर बन रहे हैं अमरनाथ यात्रियों की ढाल

ITBP के जवान हर स्‍तर पर बन रहे हैं अमरनाथ यात्रियों की ढाल
ITBP के जवान हर स्‍तर पर बन रहे हैं अमरनाथ यात्रियों की ढाल

श्रीनगर। अमरनाथ यात्रा पर गए श्रद्धालुओं की सुरक्षा का जिम्मा ITBP के जवान बखूबी निभा रहे हैं। जवान इसके लिए खुद को ढाल बनाने से भी पीछे नहीं हट रहे हैं। ऐसा ही एक वाक्या तब हुआ, जब बालटाल रूट पर एक चट्टान टूट गई और श्रद्धालुओं के रास्ते पर पत्थर गिरने लगे। इस दौरान ITBP के जवानों ने खुद को ढाल बनाने से भी गुरेज नहीं किया। उन्होंने अपनी शील्ड से श्रद्धालुओं के रास्ते में आने वाली मुसीबत को रोक दिया। यहीं नहीं जरूरत पड़ने पर श्रद्धालुओं को मेडिकल सुविधा भी तत्काल दी जा रही है।
ITBP के जवानों को बालटाल के रास्ते बाबा बर्फानी की यात्रा पर निकले श्रद्धालुओं की सुरक्षा के लिए खास जिम्मेदारी मिली है। बालटाल रूट पर तैनात जवानों की मुस्तैदी की एक तस्वीर सामने आई है। इस रास्ते पर संगम के पास एक ग्लेशियर क्षेत्र में ITBP जवानों ने श्रद्धालुओं को गिरते हुए पत्थरों की चपेट में आने से बचाया। उन्होंने अपनी शील्ड (कवच) का इस्तेमाल करते हुए इस दौरान अमरनाथ यात्रियों की सुरक्षा की।

 

70067985 श्रद्धालुओं को दी ऑक्सिजन
इस बीच ITBP जवानों ने 12 हजार फीट की ऊंचाई पर सांस लेने में दिक्कत के बाद 25 श्रद्धालुओं की मदद की। जवानों ने उन्हें तुरंत ऑक्सिजन मुहैया कराई। इससे पहले बुधवार को 4,600 से अधिक श्रद्धालु जम्मू से रवाना हुए। यात्रा में चढ़ाई के दौरान 15 यात्रियों को सांस लेने में समस्या होने लगी। उनकी हालत को देखते हुए वहां ITBP के जवानों ने यात्रियों की मदद की। उन्हें तत्काल ऑक्सिजन लगाया गया। समस्या को देखते हुए यात्रियों को बीच में ही कैंपों में रोक लिया गया।
जवानों को मिली है मेडिकल ट्रेनिंग
श्रद्धालुओं की मदद के लिए ITBP ने अमरनाथ यात्रा मार्ग पर बालटाल बेस कैंप से लेकर पवित्र गुफा तक पांच हजार से ज्यादा जवानों को तैनात किया है। इस बार जवानों को बेसिक पैरा मेडिकल की ट्रेनिंग दी गई है ताकि वे जरूरत पड़ने पर यात्रियों की मदद कर सकें। ITBP जवानों को मेडिकल किट और ऑक्सिजन सिलिंडर भी दिया गया है।
अब तक 33 हजार से ज्यादा ने किए दर्शन
अमरनाथ यात्रा के तीसरे दिन बुधवार को करीब 14 हजार श्रद्धालुओं ने पवित्र गुफा में दर्शन किए। चिकित्सा कारणों से चार श्रद्धालुओं को विमान से पहुंचाया गया। श्री अमरनाथजी श्राइन बोर्ड के एक प्रवक्ता ने बताया, ‘बुधवार को 13835 यात्रियों ने पवित्र गुफा के दर्शन किए। अब तक 33,694 श्रद्धालु दर्शन कर चुके हैं।’
उन्होंने बताया कि जम्मू कश्मीर के राज्यपाल और एसएएसबी के अध्यक्ष सत्यपाल मलिक ने चिकित्सा उपचार के लिए ठहराव वाले विभिन्न स्थानों से चार श्रद्धालुओं को विमान से भेजा। उन्होंने बताया, ‘एक श्रद्धालु को पंजतरणी से विमान से निकाला गया और उपचार के लिए मेडिकल हॉस्पिटल पहलगाम भेजा गया जबकि तीन अन्य को शेषनाग से विमान से निकाला गया।’ प्रवक्ता ने बताया कि राज्यपाल ने अधिकारियों को बीमार श्रद्धालुओं को बेहतर चिकित्सा सुविधा प्रदान करने के निर्देश दिए हैं।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *