AAP का घोषणा पत्र जारी, मोदी-शाह को छोड़कर सभी को समर्थन

नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी AAP ने लोकसभा चुनाव 2019 के लिए दिल्ली में अपना घोषणा पत्र जारी कर दिया है। दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल ने खुद इसकी घोषणा करते हुए शिक्षा, स्वास्थ्य, महिला सुरक्षा, प्रदूषण, सीलिंग, परिवहन आदि से संबंधित कई वादे किए। हालांकि, केजरीवाल ने यह भी कहा कि ये वादे पूर्ण राज्य बनने के बाद पूरे होंगे। कॉन्फ्रेंस में केजरीवाल ने साफ किया कि वह मोदी के अलावा चुनाव के बाद सरकार बनाने के लिए AAP किसी को भी समर्थन देने को तैयार हैं लेकिन बदले में वह चाहेंगे कि दिल्ली को पूर्ण राज्य का दर्जा मिले।
क्या रहे प्रमुख वादे
केजरीवाल ने कहा कि पूर्ण राज्य बनने के बाद AAP सरकार दिल्ली पुलिस में बदलाव करेगी और रिक्त भर्तियों को भरेगी। जिससे पुलिस वालों को आराम के लिए पूरा वक्त मिलेगा और वे अच्छे से और ईमानदारी से ड्यूटी कर सकेंगे।
कॉलेजों में 85 प्रतिशत सीट दिल्ली के बच्चों के लिए रिजर्व करेंगे
दिल्ली के वोटरों को 85 प्रतिशत नौकरियों में रिजर्वेशन देंगे
पूर्ण राज्य बनने पर ठेके के कर्मचारियों (गेस्ट टीचर्स भी) को एक हफ्ते के अंदर पक्का करेंगे
एमसीडी AAP के अंतर्गत आई तो हर तरफ फैले कूड़े से छुटकारा दिलाएंगे
डीडीए में भ्रष्टाचार को खत्म करके 10 साल के अंदर दिल्लीवासी को सस्ती और आसान किस्तों में घर दिलाएंगे
ऐंटी करप्शन ब्रांच, जिसे मोदी सरकार ने ‘छीना’ उसे वापस लेकर फिर भ्रष्टाचार कम करेंगे
बीजेपी कांग्रेस पर बरसे
भारतीय जनता पार्टी के घोषणा पत्र पर हमला करते हुए केजरीवाल ने कहा कि बीजेपी का घोषणा पत्र सिर्फ ‘एक लाइन’ का है कि तीन धर्मों को छोड़कर सबको देश से निकाल दिया जाए। यहां केजरीवाल ने अमित शाह के एक ट्वीट का जिक्र किया जिस पर काफी विवाद हुआ था। केजरीवाल ने कहा कि 2019 में मोदी सरकार बनने पर बीजेपी मुसलमानों, जैन, पारसियों समेत अन्य सभी को घुसपैठिया बताकर निकालना चाहती है।
मोदी-शाह को छोड़कर सभी को समर्थन
केजरीवाल ने कहा कि ऐसा नजर आता है कि 2019 के चुनाव में किसी को भी पूर्ण बहुमत नहीं मिलेगा। ऐसे में हम मोदी शाह को छोड़कर जिसकी भी सरकार बनेगी, उसका समर्थन करने को तैयार हैं। केजरीवाल ने यह भी कहा कि मोदी-शाह की जोड़ी को रोकना यही उनके घोषणापत्र का प्रमुख बिंदू भी है। वह बोले कि भारत के संविधान पर यकीन और एकता का समर्थन करने वाले गठबंधन को वह समर्थन देंगे। केजरीवाल बोले कि समर्थन करते वक्त उम्मीद रहेगी कि दिल्ली की 70 साल पुरानी पूर्ण राज्य की मांग को पूरा किया जाएगा।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *