ISRO कल 8 देशों के 30 उपग्रहों सहित भारत के भी एक उपग्रह को छोड़ेगा

चेन्नै। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन ISRO अपने पोलर सैटलाइट लॉन्च वीइकल (पीएसएलवी) सी-43 की मदद से गुरुवार सुबह 8 देशों के 30 सैटलाइट सहित भारत के हाइपरस्‍पेक्‍ट्रल इमेजिंग सैटलाइट को भी छोड़ेगा। विदेशी उपग्रहों में से 23 अमेरिका से हैं। इस लॉन्‍चिग के लिए बुधवार सुबह श्रीहरिकोटा के सतीश धवन स्‍पेश सेंटर में उल्‍टी गिनती शुरू हो गई। यह पीएसएलवी की 45वीं उड़ान होगी।
ISRO ने एक बयान जारी कहा कि सतीश धवन अंतरिक्ष केंद्र में पीएसएलवी-सी43 की उड़ान के लिए उल्‍टी गिनती बुधवार सुबह 5:58 पर शुरू हो गई। गुरुवार सुबह 9:58 पर पीएसएलवी-सी43 अंतरिक्ष के लिए उड़ान भरेगा। एजेंसी ने कहा कि इमेजिंग सैटलाइट पृथ्वी की निगरानी के लिए इसरो द्वारा विकसित किया गया है। यह पीएसएलवी-सी43 मिशन का प्राथमिक उपग्रह है।
ISRO ने कहा कि यह उपग्रह सूर्य की कक्षा में 97.957 डिग्री के झुकाव के साथ स्थापित किया जाएगा और इसकी आयु करीब 5 साल है। अंतरिक्ष एजेंसी ने कहा कि हाइपरस्‍पेक्‍ट्रल इमेजिंग सैटलाइट प्राथमिक लक्ष्य पृथ्वी की सतह का अध्ययन करना है। ISRO ने कहा कि इन उपग्रहों के प्रक्षेपण के लिए उसके वाणिज्यिक अंग के साथ वाणिज्यक करार किया गया है। पीएसएलवी ISRO का तीसरी पीढ़ी का प्रक्षेपण यान है।
एजेंसी ने कहा कि हाइपरस्‍पेक्‍ट्रल इमेजिंग सैटलाइट के साथ 30 विदेशी उपग्रह भी अंतरिक्ष में भेजे जाएंगे जिसमें 1 माइक्रो और 29 नैनो सैटलाइट होंगे। ये उपग्रह 8 देशों के हैं। इन सभी उपग्रहों को पीएसएलवी-सी43 की मदद से कक्षा में स्थापित किया जाएगा। जिन देशों के उपग्रह भेजे जाएंगे उनमें अमेरिका (23 सैटलाइट) तथा आस्ट्रेलिया, कनाडा, कोलंबिया, फिनलैंड, मलेशिया, नीदरलैंड एवं स्पेन (प्रत्येक का एक उपग्रह) शामिल हैं।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *