इजरायल की खुफिया एजेंसी मोसाद ने ईरानी हमले को व‍िफल किया

तेल अवीव। दुनियाभर में चर्चित इजरायल की खुफिया एजेंसी मोसाद ने दावा किया है कि उसने विश्‍वभर में इजरायली दूतावासों पर हाल ही में किए गए ईरानी हमले को व‍िफल कर दिया है। मोसाद ने कहा कि ये हमले बेहद सुनियोजित तरीके से ईरान की ओर से किए गए थे। इजरायल के चैनल 12 ने कहा कि खुफिया ब्‍यूरो ने इस ईरानी हमले को विफल किया है।
इजरायल और उसके धुर विरोधी ईरान के बीच तनाव बढ़ता ही जा रहा है। टाइम्‍स ऑफ इजरायल की रिपोर्ट के मुताबिक ईरान में इजरायल को लेकर निराशा बढ़ती जा रही है। पिछले दिनों इजरायल ने भूमिगत नतान्ज परमाणु स्थल पर साइबर हमला करके उसे बर्बाद कर दिया था। इजरायल का आरोप है कि ईरान परमाणु बम बनाना चाहता है। माना जा रहा है कि इसी हमले का जवाब देने के लिए ईरान यूरोप में हमले की साजिश रची थी। मोसाद ने इस ईरानी साजिश को विफल कर दिया है।
इजरायल ने पूरी तरह से खंडन नहीं किया
उधर, ईरान के आरोपों का इजरायल ने पूरी तरह से खंडन नहीं किया था। मोसाद ने उन देशों का नाम नहीं बताया है जहां पर ईरान ने यह हमला किया। हालांक‍ि उसने इतना कहा है कि प्रभावित देशों की सरकारों ने इन हमलों को रोकने में उनकी पूरी मदद की। इससे पहले इजरायल ने आरोप लगाया था कि वर्ष 2012 में उसके नई दिल्‍ली स्थित दूतावास पर हुए हमले के पीछे ईरान का हाथ था।
बता दें कि ईरान ने पुष्टि की है कि भूमिगत नतान्ज परमाणु स्थल पर क्षतिग्रस्त हुई इमारत असल में एक नया सेंट्रिफ्यूज केंद्र था। ईरान की आधिकारिक समाचार एजेंसी आईआरएनए ने यह खबर दी है। सेंट्रिफ्यूज वह मशीन होती है जिसमें विभिन्न घनत्व वाले द्रवों को या ठोस पदार्थ से तरल पदार्थों को अलग करने के लिए सेंट्रिफ्यूजल फोर्स का इस्तेमाल होता है। ईरान ने चेतावनी देते हुए कहा था कि वह जल्द ही जवाबी कार्यवाही करेगा।
ईरान बोला, हम जवाब जरूर देंगे
ईरान के नागरिक सुरक्षा प्रमुख घोलमरेजा जलाली ने कहा था क‍ि साइबर अटैक का जवाब देना हमारी राष्ट्रीय सुरक्षा का हिस्सा है। अगर यह साबित हो जाता है कि साइबर अटैक के जरिए हमारे देश को निशाना बनाया गया है तो हम जरूर जवाब देंगे। ईरानी समाचार एजेंसी आईआरएनए ने इस दुर्घटना के पीछे अपने दुश्मन इजरायल और अमेरिका पर शक जताया था।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *