IPS परमबीर सिंह बने मुंबई के नए पुलिस कमिश्नर

मुंबई। महाराष्ट्र सरकार ने सीनियर IPS परमबीर सिंह को मुंबई पुलिस कमिश्नर नियुक्त किया है। 1988 बैच के IPS अधिकारी परमबीर सिंह, संजय बर्वे की जगह लेंगे जो शनिवार को मुंबई पुलिस कमिश्नर के पद से रिटायर हो रहे हैं। परमबीर सिंह को अंडरवर्ल्ड के नेटवर्क की गहरी जानकारी है। इससे पहले वह ठाणे के पुलिस कमिश्नर भी रह चुके हैं।
परमबीर सिंह इससे पहले एसीबी के महानिदेशक थे। बता दें कि IPS परमबीर सिंह मालेगांव ब्लास्ट की जांच को लेकर चर्चा में आए थे। मालेगांव ब्लास्ट की साजिश के आरोप में साध्वी प्रज्ञा ठाकुर को एटीएस ने गिरफ्तार किया था। भले ही हेमंत करकरे उस वक्त एटीएस चीफ थे लेकिन बतौर डीआईजी एटीएस परमबीर सिंह के पास ही जांच की जिम्मेदारी थे। इन्हीं के दिशा-निर्देशन में जांच आगे बढ़ी।
इकबाल कासकर की गिरफ्तारी में बड़ी भूमिका
सितंबर 2017 में अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम के भाई इकबाल कासकर की गिरफ्तारी के वक्त परमबीर सिंह ठाणे के पुलिस कमिश्नर थे। इकबाल को बिल्डर से उगाही की धमकी के आरोप में ठाणे क्राइम ब्रांच ने गिरफ्तार किया था।
मुंबई पुलिस के ‘एसओएस’ का किया नेतृत्व
90 के दशक में मुंबई पुलिस ने जॉइंट सीपी अरविंद इनामदार के निर्देशन में स्पेशल ऑपरेशन स्क्वॉड बनाई थी। परमबीर सिंह इस स्क्वॉड के पहले डीसीपी थे। एसओएस ने मुंबई पुलिस के इतिहास में सबसे ज्यादा एनकाउंटर किए और अंडरवर्ल्ड की कमर तोड़ दी थी। इसके अलावा परमबीर सिंह ने डॉन अरुण गवली की दगड़ी चॉल में भी कई ऑपरेशन किए थे।
‘अंडरवर्ल्ड स्पेशलिस्ट’ हैं परमबीर सिंह
परमबीर सिंह को अंडरवर्ल्ड नेटवर्क की पूरी जानकारी है। 1993 के सीरियल बम ब्लास्ट के एक आरोपी को भी इन्होंने पकड़ा था। इसके अलावा ठाणे पुलिस कमिश्नर रहने के दौरान इन्होंने ड्रग्स रैकिट केस में बॉलिवुड ऐक्ट्रेस ममता कुलकर्णी को आरोपी बनाया। ममता के पति विकी गोस्वामी भी इस केस में शामिल हैं। ड्रग्स रैकिट के केस में चंडीगढ़ के डीआईजी शाजी मोहन को भी गिरफ्तार किया था। अपने करियर में परमबीर सिंह ने अंडरवर्ल्ड से जुड़े बहुत सारे ऑपरेशन किए।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *