IPL- 2022: अपनी पुरानी जर्सियों में खेलते दिखाई देंगे ये खिलाड़ी…

भारतीय टेस्ट कप्तान विराट कोहली, पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी, रोहित शर्मा अगले साल होने वाले IPL के सत्र में अपनी पुरानी जर्सियों में ही खेलते नज़र आएंगे.
इन तीनों दिग्गज क्रिकेटरों को उनकी फ्रैंचाइज़ियों ने रिटेन किया है. आईपीएल की आठ फ्रैंचाइज़ियों को कुल 32 खिलाड़ी रिटेन करने थे, जिसमें से 23 कैप्ड और चार अनकैप्ड खिलाड़ियों सहित कुल 27 खिलाड़ियों को ही रिटेन किया गया है.
आईपीएल के 10 टीमों वाले अगले सत्र की मेगा नीलामी से पहले रिटेंशन की प्रक्रिया पूरी होने के बाद एक बात साफ हो गई है कि इस बार विराट कोहली के मुकाबले मुंबई इंडियंस के कप्तान रोहित शर्मा, चेन्नई सुपरकिंग्स के आक्रामक ऑलराउंडर रविंद्र जडेजा और दिल्ली कैपिटल्स के कप्तान ऋषभ पंत को ज़्यादा धनराशि मिलेगी. विराट की 15 करोड़ की सेलरी के मुकाबले इन तीनों को 16 करोड़ रुपए मिलेंगे.
विराट कोहली के पैसों के मामले में पिछड़ने की वजह बीसीसीआई की रिटेंशन नीति है. इस नीति के हिसाब से चार खिलाड़ियों को रिटेन करने पर पहले खिलाड़ी को 16 करोड़ रुपए मिलते हैं.
वहीं तीन खिलाड़ियों को रिटेन करने की सूरत में पहले खिलाड़ी को 15 करोड़ रुपए ही मिलने थे.
कई दिग्गजों को छोड़ने का नई टीमों को मिलेगा फ़ायदा
आईपीएल के अगले सत्र में लखनऊ और अहमदाबाद की टीमें शामिल किए जाने से अब मुकाबले 10 टीमों के बीच खेले जाने हैं.
नई टीमों को दिसम्बर के आखिरी हफ्ते या जनवरी के पहले हफ्ते में होने वाली नीलामी से पहले बाकी खिलाड़ियों में से तीन-तीन खिलाड़ी चुनने का मौका मिलेगा. अब नीलामी के लिए उपलब्ध खिलाड़ियों में श्रेयस अय्यर, केएल राहुल, हार्दिक पांड्या, ईशान किशन, युजवेंद्र चहल, ओएन मॉर्गन, राशिद खान, शुभमन गिल, कगिसो रवाडा, रविचंद्रन अश्विन जैसे दिग्गज शामिल रहेंगे जिससे ये नई टीमों के लिए उपलब्ध हो सकेंगे.
पंजाब किंग्स और कोलकाता नाइट राइडर्स ने अपने कप्तानों केएल राहुल और ओएन मॉर्गन को छोड़ दिया है. असल में रिटेंशन नीति के हिसाब से यदि कोई खिलाड़ी टीम को छोड़ना चाहता है तो उसे यह अधिकार होगा. केएल राहुल ने अपने इस अधिकार के इस्तेमाल से पंजाब किंग्स को छोड़ा है. राहुल के नई फ्रेंचाइजी लखनऊ का कप्तान बनने की उम्मीद की जा रही है.
वहीं कोलकाता नाइट राइडर्स के मॉर्गन को छोड़ने से साफ है कि वह उम्मीदों के मुताबिक प्रदर्शन नहीं कर पाने की वजह से नए कप्तान की तलाश में हैं.
श्रेयस के फैसले के पीछे कप्तानी जाना
श्रेयस अय्यर दिल्ली कैपिटल्स की जान रहे हैं लेकिन पिछले सीज़न में उनके चोटिल होने पर ऋषभ पंत को कप्तान बना दिया गया था.
वह वापसी करने पर कप्तानी वापस पाने की उम्मीद कर रहे थे. पर फ्रैंचाइज़ी ने पंत को कप्तान बनाए रखने का फैसला किया. इस कारण उन्होंने दिल्ली कैपिटल्स को छोड़ने का फैसला किया है.
यह कहा जा रहा है कि नई फ्रैंचाइजी अहमदाबाद के कप्तान बनाए जाने को लेकर उनकी बात चल रही है.
यह दोनों टीमें बनेंगी नए सिरे से
सनराइज़र्स हैदराबाद और पंजाब किंग्स के रिटेन किए खिलाड़ियों को देखने से साफ है कि वह नए सिरे से टीम बनाने के प्रयास में हैं.
सनराइज़र्स ने कप्तान केन विलियम्सन के साथ सिर्फ दो अनकैप्ड खिलाड़ियों अब्दुल समद और उमरान मलिक को ही रिटेन किया है. उन्होंने राशिद खान, डेविड वार्नर और जॉनी बेयरेस्टो जैसे दिग्गजों को छोड़कर नई टीम बनाने का संकेत दिया है.
इसी तरह पंजाब किंग्स ने मयंक अग्रवाल और अर्शदीप सिंह को ही रिटेन किया है. यह दोनों ही टीमें अगले सत्र में नए रंग में नज़र आएंगी.
कम खिलाड़ियों को रिटेन करने की वजह से पंजाब किंग्स के पास नीलामी में खिलाड़ियों को खरीदने के लिए सबसे ज़्यादा 72 करोड़ रुपए की राशि रहेगी. वहीं सनराइज़र्स हैदराबाद के पास भी 68 करोड़ रुपए की राशि है. वहीं दो नई टीमों के नीलामी से पहले खिलाड़ी लेने के बाद ही साफ होगा कि उनके पास कितना पैसा बचता है.
मुंबई के सामने थी सबसे ज़्यादा चुनौती
मुंबई इंडियंस पिछले काफी समय से आईपीएल में अच्छा प्रदर्शन करती रही है. इस कारण उसमें अधिक बदलाव भी देखने को नहीं मिला है. लेकिन पिछले सीज़न में नॉकआउट दौर में नहीं पहुंच पाने के बाद भी उन्होंने अपना फोकस नहीं बदला है पर उनके सामने सबसे बड़ी दिक्कत यह थी कि वह सूर्यकुमार, ईशान किशन और हार्दिक पांड्या में से किस एक को चुनें इसलिए उन्होंने सूर्यकुमार को चुना.
इसकी एक वजह शायद हार्दिक पांड्या का पूरी रंगत में नहीं होना भी है. पर बहुत संभव है कि वह नीलामी में अपने इन खिलाड़ियों को लेने का प्रयास करें. पर यह दोनों ऐसी क्षमता वाले हैं कि इनके ऊपर अन्य टीमों की भी ज़रूर निगाह रहने वाली है.
चेन्नई ने धोनी से ऊपर जडेजा को रखा
चेन्नई सुपरकिंग्स ने यह जानते हुए भी कि महेंद्र सिंह धोनी अब टीम के लिए बहुत उपयोगी नहीं रहे हैं पर भावनात्मक लगाव की वजह से उन्हें रिटेन किया है. फ्रैंचाइज़ी ने आखिरी सत्र को ध्यान में रखकर यह फैसला किया है.
इस फैसले के पीछे यह भी संभावना है कि धोनी के नामभर से टीम के बिज़नेस को उड़ान मिल जाती है. इसके अलावा धोनी की कप्तानी का अभी भी कोई तोड़ नहीं है. पर इस टीम ने रविंद्र जडेजा को 16 करोड़ में खरीदकर अपनी प्राथमिकता भी साफ कर दी है. उन्होंने धोनी को 12 करोड़ रुपए में रिटेन किया है.
आरसीबी को कप्तान तलाशने में होगी दिक्कत
पिछले कई सालों से इस टीम की कमान विराट कोहली के हाथों में रही है. पर वह अपनी टीम को कभी भी खिताब तक नहीं पहुंचा सके हैं. उन्होंने पिछले सत्र के दौरान भारतीय टी-20 टीम के साथ-साथ आरसीबी की कप्तानी छोड़ने की भी घोषणा कर दी थी. इस कारण अब उन्हें नया कप्तान तलाशना होगा.
उन्होंने विराट के साथ ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी ग्लेन मैक्सवेल को भी रिटेन किया है. बहुत संभव है कि फ्रैंचाइज़ी ने मैक्सवेल को कप्तानी की ज़िम्मेदारी सौंपनी की योजना बनाई हो. ऐसा नहीं होगा तो संभव है कि नीलामी में वह किसी खिलाड़ी पर दांव लगाए.
जिस तरह से फ्रैंचाइज़ियों ने खिलाड़ियों को छोड़ा है, उससे यह तो साफ है कि इस बार ज़्यादातर टीमें नए रूप में नज़र आएंगी. इससे अगले सत्र के मुकाबलों में और ज़्यादा रोमांच आ सकता है.
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *