पद्म विभूषण छन्नूलाल की बेटी के निधन की जांच रिपोर्ट 20 दिनों बाद भी नहीं मिली

वाराणसी। पीएम मोदी के प्रस्तावक और पद्म विभूषण पंडित छन्नूलाल मिश्रा के बड़ी बेटी संगीता मिश्रा की मौत मामले में 20 दिनों बाद भी जांच समिति अपनी रिपोर्ट नहीं दे सकी।
20 दिन बीत जाने के बाद भी मामले में सच क्या है, संगीता की मौत कैसे हुई, ये अब तक नहीं पता चला है। इन अधूरे जवाबों को लेकर पंडित छन्नूलाल मिश्रा बेहद दुखी हैं।
मीडिया से बातचीत में छन्नूलाल मिश्रा ने कहा कि ‘बेटी की मौत से मैं कितना दुखी हूं, ये बता नहीं सकता। रात-रात को उठकर मैं बैठ के सोचता हूं कि क्या हुआ था उसको। घटना को 20 दिन हो गए लेकिन अभी तक सीसीटीवी फुटेज सामने नहीं आया। हम रिपोर्ट के इंतजार में बैठे हैं लेकिन अब तक रिपोर्ट भी नहीं आई।’
‘सीएम-पीएम से करूंगा शिकायत’
पंडित छन्नूलाल मिश्रा ने बताया कि इस पूरे मामले में कमिश्नर और डीएम भी लगे हैं लेकिन 20 दिन बाद भी सीसीटीवी फुटेज नहीं मिल सका है। मैं इस घटना की शिकायत मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री से भी करूंगा ताकि सच सामने आ सके कि अस्पताल में 7 दिनों तक मेरे बेटी के साथ क्या हुआ। उसे क्या दुख था ये सामने आ सके।
सीसीटीवी फुटेज को लेकर झूठ बोल रहा अस्पताल
छन्नूलाल मिश्रा की छोटी बेटी नम्रता मिश्रा ने बताया कि अस्पताल प्रबंधन लगातर सीसीटीवी फुटेज को लेकर झूठ बोल रहा है। मेडविन अस्पताल के प्रबंधक का कहना है कि 2 महीने पहले सीसीटीवी खराब हो चुका था। लेकिन मेरी दीदी जब अस्पताल में भर्ती थी तो मुझे सीसीटीवी के जरिए अस्पताल के लोगों ने मुझे उन्हें दिखाया था। इसका वीडियो भी मेरे पास उपलब्ध है।
ये है पूरा मामला
वाराणसी के मैदागिन स्थित मेडविन अस्पताल में इलाज के दौरान पंडित छन्नूलाल मिश्रा की बड़ी बेटी संगीता मिश्रा की 29 अप्रैल को मौत हुई थी। मौत के दो दिनों बाद उनकी छोटी बेटी नम्रता ने अस्पताल में सीसीटीवी फुटेज दिखाने की मांग को लेकर हंगामा कर लापरवाही का आरोप लगाया। उसके बाद इस मामले में डीएम ने तीन डॉक्टरों की जांच टीम गठित कर दी। लेकिन 20 दिन बीत जाने के बाद भी इस मामले में सच क्या है अभी तक साफ नहीं हो सका है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *