जनेश्वर मिश्र पार्क के निर्माण में गड़बड़ी की जांच अब पावर कारपोरेशन को

लखनऊ। जनेश्वर मिश्र पार्क के निर्माण में हुई गड़बड़ी की जांच अब उत्तर प्रदेश पावर कारपोरेशन करेगा। जांच के लिए पावर कारपोरेशन ने 4 विशेषज्ञ अधिकारियों की एक कमेटी बना दी है। पावर कारपोरेशन के निदेशक सत्य प्रकाश पांडेय ने विशेष सचिव को पत्र लिखकर जांच के लिए जरूरी दस्तावेज उपलब्ध करवाने का अनुरोध किया है।
गोमतीनगर विस्तार में बने जनेश्वर मिश्र पार्क के निर्माण में बड़े घोटाले की आशंका जताई गई थी। वर्ष 2017 में भाजपा की सरकार बनने के बाद विभागीय राज्य मंत्री सुरेश पासी ने इसकी जांच का आदेश दिया था। उन्होंने खुद इसकी जांच की थी। अब पावर कारपोरेशन चौथा विभाग है जो इसकी जांच करने जा रहा है। उत्तर प्रदेश पावर कारपोरेशन के निदेशक ने इसकी जांच के लिए मुख्य अभियंता ट्रांस गोमती प्रदीप कक्कड़, संयुक्त सचिव मुख्यालय एएच आजमी तथा उप सचिव आरके श्रीवास्तव की सदस्यता में कमेटी बनाई है। उपसचिव ए के सिन्हा को जांच कमेटी का संयोजक बनाया गया है। यह सभी अधिकारी उत्तर प्रदेश पावर कारपोरेशन के हैं। इसकी जांच के लिए शासन के ग्राम विकास विभाग ने उत्तर प्रदेश पावर कारपोरेशन को पत्र लिखा था। जिसके बाद उसने विशेषज्ञ इंजीनियरों की कमेटी बनाई है।
यह भी कर चुके हैं जांच: जनेश्वर मिश्र पार्क व जेपी इंटरनेशनल सेंटर की जांच इससे पहले भी कराई जा चुकी है। आवास राज्यमंत्री सुरेश पासी ने खुद पूरे पार्क का निरीक्षण कर सबसे पहले इसकी जांच की थी। इसके बाद शासन के आदेश पर कमिश्नर ने लोक निर्माण विभाग से जांच कराई। बाद में शासन ने ग्राम विकास विभाग को इसकी जांच सौंपी। अब इसकी जांच उत्तर प्रदेश पावर कारपोरेशन को दी गई है।
376 एकड़ के पार्क के निर्माण पर 400 करोड़ खर्च
गोमती नगर विस्तार में 376 एकड़ में बने जनेश्वर मिश्र पार्क के निर्माण पर करीब 400 करोड़ रुपये खर्च हुए हैं। इसका निर्माण पूर्व की सरकार में हुआ था। एलडीए के तत्कालीन इंजीनियरों ने इसके निर्माण में काफी मनमानी की थी। बहुत महंगी दरों पर लाइटें लगवाई गई। बिजली के काम भी निर्धारित दर से काफी ज्यादा कीमत पर कराने की बात कही गई। शासन के अफसरों का कहना है कि जांच रिपोर्ट आने के बाद इस मामले में दोषी इंजीनियरों व अधिकारियों के खिलाफ कार्यवाही होगी।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *