घुसपैठिये TMC का वोट बैंक, 02 मई के बाद परिंदा भी पर नहीं मार पाएगा: शाह

नागरकाटा। पश्चिम बंगाल के नागरकाटा में जनसभा को संबोधित करते हुए गृहमंत्री अमित शाह ने ममता बनर्जी पर निशाना साधा। अमित शाह ने कहा कि ममता बनर्जी उन्हें और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बाहरी कहती हैं। शाह ने घुसपैठियों को TMC का वोट बैंक बताते हुए कहा कि दो मई के बाद पश्चिम बंगाल में इंसान तो क्या परिंदा भी पर नहीं मार पाएगा।
नागरकोटा में रैली संबोधित करते हुए अमित शाह ने कहा, ‘दीदी कहती हैं मैं बाहरी हूं। PM को बाहरी कहती हैं। आपका ज्ञान बहुत अल्प है। मैं बताता हूं कि बाहरी कौन हैं? दीदी, कम्युनिस्टों की विचारधारा बाहरी है। वे चीन और रूस से लाए हैं। कांग्रेस नेतृत्व बाहरी है। ईटली से आई है। TMC का वोट बैंक बाहरी है, घुसपैठिए हैं। मैं इसी देश में जन्मा, मैं कैसे बाहरी हो सकता हूं?’
‘2 मई के बाद परिंदा भी पर नहीं मार पाएगा’
अमित शाह ने आगे कहा, ‘बंगाल के गरीब का चावल घुसपैठिए ले लेते हैं। 2 मई को सरकार बनने के बाद इंसान तो छोड़े परिंदा भी पर नहीं मार पाएगा। सारे शरणार्थियों को नागरिकता देने का काम बीजेपी करेगी। घुसपैठ की समस्या का समाधान केवल बीजेपी कर सकती है।’ इससे पहले अमित शाह ने दार्जिलिंग में जनसभा के दौरान गोरखा समुदाय की 11 जातियों को जनजाति का दर्जा देने का वादा किया।
गोरखा और नेपाली मेरे भाई हैं: अमित शाह
दार्जिलिंग में अमित शाह ने कहा, ‘हम चाहते हैं कि देशभर में जो गोरखा भाई यहां के हैं और जो नेपाली भाई नेपाल से आए हैं। वो भी मेरे अपने हैं, मेरे भाई हैं। कोई उसको कुछ भी डराए, डरिएगा मत। गोरखाओं और नेपालियों के सम्मान के लिए बीजेपी किसी के भी साथ लड़ाई कर सकती है।’
‘कांग्रेस-लेफ्ट और टीएमसी ने गोरखाओं के साथ किया अन्नाय’
अमित शाह ने आगे कहा, ‘गोरखाओं का इतिहास समृद्ध है। जब कभी देशभक्त समुदायों का नाम लिया जाएगा, तो गर्व से गोरखाओं का नाम पहले स्थान पर लिया जाएगा…. तीनों- कांग्रेस-कम्युनिस्ट और टीएमसी ने कई सालों तक देश भर में गोरखाओं के साथ अन्याय किया।’
‘एक हफ्ते में सारे केस लिए जाएंगे वापस’
दार्जिलिंग में गृह मंत्री ने यह भी कहा कि 1986 में कम्युनिस्टों ने पहाड़ियों को आग में झोंक दिया। 1200 से ज्यादा गोरखा मारे गए। दीदी ने भी ये ट्रेंड जारी रखा। कई लोग मारे गए और हजारों के खिलाफ एफआईआर हुई। केवल सेलेक्टिव एफआईआर वापस ली गईं। बीजेपी की सरकार बनने के बाद गोरखाओं के खिलाफ सारे केस एक हफ्ते में वापस लिए जाएंगे।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *