इस साल भी वर्चुअली ही किया जाएगा अंतर्राष्‍ट्रीय योग दिवस का आयोजन

संयुक्त राष्ट्र की ओर से हर साल मनाया जाने वाला अंतर्राष्‍ट्रीय योग दिवस इस साल भी 21 जून को मनाया जा रहा है.
कोविड संक्रमण के चलते इसका आयोजन पिछले साल के आयोजन की तरह ही वर्चुअली किया जाएगा.
सातवें इंटरनेशनल योगा डे आयोजन का सीधा प्रसारण आप 21 जून 2021 सुबह साढ़े आठ बजे से सुबह 10 बजे के बीच संयुक्त राष्ट्र के यूएन वेब टीवी पर देख सकते हैं.
हर साल इंटरनेशनल योगा डे के आयोजन का थीम बिंदू होता है, इस बार संयुक्त राष्ट्र ने इसे योगा फ़ॉर वेल बीइंग यानी कल्याण के लिए योग रखा है. बीते दो साल के कोविड संक्रमण के दौरान यह देखा गया है कि योग ना केवल शारीरिक तौर पर बल्कि लोगों की मानसिक और मनोवैज्ञानिक तौर पर मजबूत रख रहा है जिससे वे कोविड संबंधी मुश्किलों और अवसाद का बेहतर ढंग से सामना कर पा रहे हैं.
संयुक्त राष्ट्र ने अपने बयान में कहा, “दुनिया भर में दिखा है कि कोविड महामारी के दौर में सेहतमंद रहने और सामाजिक अलगाव एवं अवसाद से लड़ने के लिए योग को अपनाने की प्रवृति बढ़ी है. योग कोविड-19 से संक्रमित लोगों के ठीक होने में अहम भूमिका निभा रहा है. यह उनके डर और चिंता को कम कर रहा है.”
इंटरनेशनल योगा डे की शुरुआत
इंटरनेशनल योगा डे मनाने का प्रस्ताव सबसे पहले भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 27 सितंबर 2014 को संयुक्त राष्ट्र की महासभा के अपने संबोधन में दिया था. अपने संबोधन में प्रधानमंत्री ने योग को भारत की प्राचीन परंपरा का अमूल्य उपहार बताया था.
इस प्रस्ताव का 175 देशों ने समर्थन किया था. संयुक्त राष्ट्र के किसी प्रस्ताव पर इतने देशों का समर्थन इससे पहले कभी नहीं मिला था, इसे देखते हुए संयुक्त राष्ट्र ने 11 दिसंबर, 2014 को हर साल 21 जून इंटरनेशनल योगा डे मनाने की घोषणा की.
कब कब हुआ है आयोजन
पहले इंटरनेशनल योगा डे यानी 21 जून 2015 को दिल्ली के राजपथ पर हुए आयोजन में भारत के प्रधानमंत्री और दुनिया के दूसरे देशों के जाने माने राजनीतिक प्रतिनिधियों के साथ करीब 36 हज़ार लोगों ने 35 मिनट तक योग के 21 आसन करके इसकी शुरुआत की. इस आयोजन की थीम थी सद्भाव और शांति के लिए योग.
21 जून 2016 को दूसरा इंटरनेशनल योगा डे का औपचारिक आयोजन चंडीगढ़ में हुआ, जहां प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मौजूदगी में 30 हज़ार लोगों के साथ 150 दिव्यांगों ने भी हिसा लिया. इस साल के आयोजन का थीम युवाओं को जोड़ना था.
21 जून 2017 को प्रधानमंत्री मोदी ने लखनऊ में करीब 51 हज़ार प्रतिभागियों के साथ योगा किया. इस साल का थीम स्वास्थ्य के लिए योग था.
21 जून 2018 को प्रधानमंत्री मोदी देहरादून में 50 हज़ार प्रतिभागियों के साथ योग करते नज़र आए, इस साल का थीम था शांति के लिए योग. अगले साल प्रधानमंत्री योग मनाने के लिए रांची पहुंचे.
21 जून 2019 के इंटरनेशल योग डे का थीम पर्यावरण के साथ योग था जबकि 21 जून 2020 को कोविड महामारी के समय में इसका वर्चुअली सफयर आयोजन किया गया. इस साल इस आयोजन का थीम घर पर योग, परिवार के साथ योग था.
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *